Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

लंबित छात्रवृति के आपेक्षपूर्ति के लिए विद्यार्थियों को 25 तक आखरी मौका

बाड़मेर, 12  नवम्बर। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ अरूण चतुर्वेदी के निर्देश पर उत्तर मैटिक छात्रवृति योजनाओं के लम्बित आवेदन पत्रों...

बाड़मेर, 12  नवम्बर। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ अरूण चतुर्वेदी के निर्देश पर उत्तर मैटिक छात्रवृति योजनाओं के लम्बित आवेदन पत्रों की आपेक्षपूर्ति के लिए विद्यार्थियों एवं वित्तीय संस्थाओं को 25 नवम्बर 2016 तक अन्तिम मौका दिया गया है।

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के निदेशक रवि जैन ने बताया कि राजस्थान के मूल निवासियों के लिए एस. सी. एस. टी. विशेष पिछडा वर्ग मुख्य मंत्री सर्वजन उच्च शिक्षा, घुमन्तु, अर्द्धघुमन्तु एवं विमुक्त जाति उत्तर मैटिक छात्रवृति योजनाओं में वर्ष 2012-13 2013-14 एवं 2014-15 तक राजकीय एवं मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थाओं स्तर पर व राज्य के बाहर अध्ययन विद्यार्थियों को आपेक्ष पूर्ति का आखरी मौका दिया है। जैन ने बताया कि 25 नवम्बर 2016 तक स्वीकृत अधिकारियों द्वारा अस्थाई खारिज कर अथवा आपेक्ष लगाकर आपेक्षपूर्ति के लिए शिक्षण संस्थाओं को प्रेषित किये आवेदन-पत्रों को शिक्षण संस्थाओं द्वारा ऑनलाईन आपेक्ष पूर्ति कर अथवा विद्यार्थियों से आपेक्ष पूर्ति करवा कर स्वीकृतकर्ता अधिकारियों को आपेक्ष दस्तावेज हार्डकॉपी जमा करना एवं ऑनलाईन आवेदन-पत्र अग्रेषित करना है। उन्होंने बताया कि आपेक्षपूर्ति करने के लिए विद्यार्थियों एवं शिक्षण संस्थाओं को यह अन्तिम अवसर दिया जा रहा है 25 नवम्बर 2016 के उपरान्त विद्यार्थियों अथवा शिक्षण संस्थाओं के स्तर पर आपेक्ष पूर्ति हेतु आवेदन-पत्र लम्बित रहने पर आवेदन-पत्र स्थायी रूप से खारिज कर दिया जाएगा। इसके बाद आवेदन-पत्र लम्बित रहने की स्थिति में सम्बन्धित छात्रों को छात्रवृति राशि नहीं मिलने के लिए सम्बन्धित विद्यार्थी एवं शिक्षण संस्थान जिम्मेदार होंगे। उन्होंने बताया कि सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सभी जिला अधिकारियों को निर्देशित किया है कि अपने स्तर से सम्बन्धित शिक्षण संस्थाओं एवं विद्यार्थियों को समाचार-पत्रों, ई-मेल, दूरभाष, एस एम एस, व्हाटसअप, पोस्टकार्ड आदि के माध्यम से व्यापक प्रचार-प्रसार कर एवं सूचित करवाकर निर्धारित तिथि तक आपेक्ष पूर्ति करवाया जाना सुनिश्चित करने के निर्देश दिये है। जैन ने बताया कि छात्रवृति के लम्बित आवेदन-पत्रों की आपेक्ष पूर्ति करने के बाद 30 नवम्बर 2016 तक स्वीकृत योग्य आवेदन-पत्रों की छात्रवृति राशि के बिल बनाकर कोषालय भिजवाया जाकर विद्यार्थियों के खातों में छात्रवृति राशि हस्तांतरण करने के लिए सम्बन्धित जिला अधिकारियों को पाबंद किया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं