Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

माता पिता के घर पर बेटे का कोई कानूनी अधिकार नहीं है-दिल्ली हाई कोर्ट

नई दिल्ली। दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा कि किसी बेटी को अपने माता पिता के द्वारा अर्जित किए गए घर में रहने का कोई कानूनी अधिकार नहीं है वह क...

नई दिल्ली। दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा कि किसी बेटी को अपने माता पिता के द्वारा अर्जित किए गए घर में रहने का कोई कानूनी अधिकार नहीं है वह केवल उनकी दया पर ही वहां रह सकता है। फिर चाहे बेटा विवाहित हो या अविवाहित दिल्ली हाईकोर्ट का यह फैसला उन लोगों के लिए बहुत ही अच्छा साबित होगा। जिन्होंने अपने पसीने की कमाई को इकट्ठा करके रहने के लिए घर बनाते हैं और अपने बेटे की शादी के बाद अक्सर बहु बेटे कब्जा कर लेते हैं। बहु आने के बाद में अक्सर बेटे भी अलग हो जाते हैं और अपनी वसीयतनामा में घर भी मांग लेते हैं। ऐसे में उन लोगों को जरूर राहत मिलेगी। क्योंकि ऐसा कई जगह पर होता है जहां शादी के बाद बेटे अपनी पत्नी के कहने पर अलग हो जाते है या घर पर अपना हक जमाने लगते है या घर से वृद्धा आश्रम में भेज देते है अपने मां-बाप को उन लोगों के लिए खुशखबरी है उन्हें जरुर फायदा होगा और आने वाले समय के अंदर जरूर कुछ नजर आएगा।

कोई टिप्पणी नहीं