Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

बाड़मेर,मेघवाल समाज ने दी सती देवी को बौद्व धर्म अनुसार श्रद्वाजंली

रिपोर्टर @ इंद्र बारूपाल -बाड़मेर जिले में पहली शुरुआत बाड़मेर। फोटाराम मंगल की धर्मपत्नि सति देवी का दिनांक 25.10.2016 को स्वर्गवास हो गया ...

रिपोर्टर @ इंद्र बारूपाल
-बाड़मेर जिले में पहली शुरुआत
बाड़मेर। फोटाराम मंगल की धर्मपत्नि सति देवी का दिनांक 25.10.2016 को स्वर्गवास हो गया था। जिनके पुत्र भोजाराम बौद्व ने बाड़मेर जिले में एक नई पहल करते हुए इस मौके पर बौद्व धर्मानुसार श्रद्वाजली देने का निर्णय लिया। और इस अवसर पर मुत्युभोज वह अन्य सामाजिक कुटितिया को त्यागने का संकल्प लिया। चार नवम्बर को नेहरु नगर बाड़मेर में उनके निवास पर धम्म जागरण का आयोजन किया गया।

और इसमें बौद्विस्ट भजनों वह अम्बेडकरवादी भजनों की प्रस्तुतियां दी गई। श्रद्वाजली कार्यक्रम में सादा खाना बनाया गया और मृत्यु भोज बंद किया गया। प्रातः 8 बजे बौद्व धर्मानुसार नागराज महावेरा द्वारा सती देवी मंगल को श्रद्वाजली अर्पित की। कार्यक्रम के इस मौके पर बसपा के वरिष्ठ नेता रईस अहमद मलिक ने कहा कि हमारा मूल धर्म बौद्व है। पीघड़ों और भलजुमों को अगर आगे बढना है तो बौद्व धर्म के अनुयायी बनना होगा। असली धर्म वहीं होता है जो समता स्वंतत्रा, और बन्धुता का पाढ पढाये। उन्होंने कहा कि हमें समा्रट अशोक के भारत का निर्माण करना है। इस मौके पर फोटाराम मंगल, श्रवण मंगल, बी.आर. अम्बेड़कर, डाॅ राहुल मंगल, भारमल गुजर, दीपाराम, जयरामदास मंगल, श्रवण चन्देल, शम्भूराम, केवलचन्द बजृवाल, तिल्लाराम पन्नू, भैरुलाल नामा, खेतेश कोचरा, बसपा नेता चैनाराम परिहार, नाराणाराम गर्ग, ईशाराम, संत बालमराम, भारतीय बौद्व महासभा प्रदेश अध्यक्ष विजेन्द्र बौद्व व विशिष्ट अतिथि वी.आर बौद्व सहित समाज के सैकड़ों लोग उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं