Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

विद्यार्थियों को वैज्ञानिक सोच के प्रति जागरूक करेंःदेवनानी

बाड़मेर, 01 दिसंबर। विद्यार्थियों को वैज्ञानिक सोच के प्रति जागरूक करने की जरूरत है। भारत विज्ञान के क्षेत्र में प्राचीनकाल से ही अग्रणी...

बाड़मेर, 01 दिसंबर। विद्यार्थियों को वैज्ञानिक सोच के प्रति जागरूक करने की जरूरत है। भारत विज्ञान के क्षेत्र में प्राचीनकाल से ही अग्रणी रहा है। विज्ञान की विविध विद्याओं से हमने विश्व को परिचित कराया। राज्य सरकार प्रदेश में विज्ञान विषय के संवर्द्वन के लिए विशेष प्रयास कर रही है। शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी ने बाड़मेर जिला मुख्यालय पर रासीउमावि स्टेशन रोड़ में 49 वें राज्य स्तरीय विज्ञान, गणित एवं पर्यावरण प्रदर्शनी तथा जनसंख्या शिक्षा मेला 2016-17 के समापन समारोह के दौरान यह बात कही।
इस अवसर पर राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी ने कहा कि राज्य स्तर पर विज्ञान के प्रति विद्यार्थियों की जागरूकता बढ़ाने के लिए शिक्षा विभाग अपने प्रयास और तेज करेगा। उन्होंने कहा कि हमारा प्राचीन इतिहास प्रत्येक क्षेत्र में गौरवशाली उदाहरणों से भरा पड़ा है। देवनानी ने कहा कि भगवान गणेश के सिर पर हाथी के सिर का प्रत्यारोपण हो या महाभारत में संजय का धृतराष्ट्र को युद्घ का आंखों देखा हाल बताना, अजंता एलोरा की गुफाओं में सैकंडों सालों से संरक्षित भित्ति चित्र हो यह सभी भारत की समृद्ध वैज्ञानिक परम्परा को दर्शाते हैं।
उन्होंने राज्य स्तरीय विज्ञान मेले में प्रतिभागियों की ओर से प्रस्तुत किए गए प्रोजेक्टस की सराहना करते हुए कहा कि इनमें भी राष्ट्रीय सुरक्षा के महत्व को प्राथमिकता दी गई है इससे जाहिर है कि देश की युवा पीढ़ी देश की सुरक्षा को लेकर कितनी गंभीर है। उन्होंने कहा कि युवा पीढ़ी में देशभक्ति की भावना जागृत की जाए।
उन्होंने कहा कि शिक्षा पाठ्यक्रम  में खासा बदलाव करते हुए इसको सामाजिक समरसता आधारित बनाया गया है। उन्होंने शिक्षा के प्रति राज्य सरकार की गंभीरता का जिक्र करते हुए कहा कि बाड़मेर में 325 विद्यालय क्रमोन्नत किए गए है। राज्य सरकार 60 हजार शिक्षकों का पद स्थापन करने जा रही है। इसके अलावा वृहद स्तर पर पदोन्नति के जरिए भी शिक्षकों का पदस्थापन किया गया है।
सिवाना विधायक हमीरसिंह भायल ने कहा कि शिक्षा विभाग में नवाचारों के जरिए राज्य सरकार ने नई पहल की है। उन्होंने कहा कि पदोन्नति करके शिक्षकों को तोहफा दिया गया है। उन्होंने अन्य जिलों में पद स्थापित बाड़मेर निवासी शिक्षकों को यहां स्थापित करने की जरूरत जताई। बायतू विधायक कैलाश चौधरी ने कहा कि शिक्षा को बढावा देने के लिए राज्य सरकार की ओर वृहद स्तर पर प्रयास किए जा रहे है। उन्होंने विद्यार्थियों से समय की कीमत को पहचानने एवं सोशियल मीडिया के बजाय अपने भविष्य निर्माण के लिए विशेष ध्यान देने की बात कही। चौहटन विधायक तरूणराय कागा ने कहा कि विज्ञान मेले में शामिल प्रतिभागी भविष्य में अब्दुल कलाम के सपने को साकार करेंगे। उन्होंने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में राज्य सरकार की ओर से सराहनीय प्रयास किए गए है।
इस अवसर पर यूआईटी चैयरमैन डा.प्रियंका चौधरी ने कहा कि बाड़मेर जिला विकास की ओर अग्रसर है। बालिका शिक्षा के साथ विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में बाड़मेर के युवा बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे है। उन्होंने कहा कि देश की तस्वीर को बदलने के लिए शिक्षकों के साथ माता-पिता भी एक होकर युवा पीढ़ी को संस्कारित करने का जिम्मा संभाले। इस अवसर पर पूर्व विधायक कानसिंह कोटड़ी ने जिले में दो शिक्षा अधिकारियों का पदस्थापन करने की जरूरत की जरूरत जताई। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी आगे चल कर मिसाइल मैन बनेंगे। इससे पहले मेला संयोजक रासीउमावि स्टेशन रोड़ के प्रधानाचार्य चेनाराम चौधरी ने कार्यक्रम की शुरूआत में मेला आयोजन एवं गतिविधियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। समारोह के दौरान जिला कलक्टर सुधीर शर्मा, समाजसेवी कैलाश कोटडि़या, जिला शिक्षा अधिकारी ओमप्रकाश, जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक कैलाशचंद तिवाड़ी, राजवेस्ट पावर प्लांट के निदेशक आदित्य अग्रवाल, उप महाप्रबंधक विनोद विटठल,एनसीआरटी के उप निदेशक अशोक सिंधी, मेला संयोजक चेनाराम चौधरी, मगाराम चौधरी, खेताराम चौधरी, पूर्व विधायक जालमसिंह रावलोत समेत कई गणमान्य नागरिक एवं विभिन्न विद्यालयों के शिक्षक एवं विद्यार्थी उपस्थित रहे। इससे पहले शिक्षा राज्य मंत्री देवनानी ने विज्ञान मेले में प्रदर्शित किए गए विभिन्न प्रोजेक्टस का अवलोकन करने के साथ प्रतिभागियों को प्रोत्साहित किया। राज्य मंत्री देवनानी ने समारोह के दौरान उत्कृष्ट प्रोजेक्टस के प्रतिभागियों को सम्मानित किया। उन्होंने रासीउमावि स्टेशन रोड़ में कंप्यूटर लेब का उदघाटन कर तकनीकी एवं डिजीटल शिक्षा के क्षेत्र में इस तरह के प्रयास की सराहना की। इस अवसर पर अंतरराष्ट्रीय कलाकार धोधा खान, फकीरा खान एंड पार्टी के अलावा विद्यार्थियों ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी। कार्यक्रम का संचालन दीपसिंह रणधा एवं श्रीमती हेमलता ने किया।

कोई टिप्पणी नहीं