Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

विद्यार्थी करते हैं डर के छाए में पढ़ाई,क्षतिग्रस्त भवन कभी भी ले सकता हैं अंगड़ाई

रिपोर्टर @ घमण्डाराम परिहार बाड़मेर/बायतु। उपखंड क्षेत्र के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय कानोड़ मे अध्यनरत विद्यार्थियों की पढाई डर के...

रिपोर्टर @ घमण्डाराम परिहार

बाड़मेर/बायतु। उपखंड क्षेत्र के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय कानोड़ मे अध्यनरत विद्यार्थियों की पढाई डर के छाए में हो रही हैं। ऐसा इसलिए हैं की विद्यालय भवन का कुछ हिस्सा जर्जर हो चूका हैं जिससे कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है। इन विद्यार्थियों को पढ़ाई के दौरान हमेशा यह डर सताता है की कहीं बिल्डिंग में कुछ हो न जाए। इस विद्यालय में  कानोड़ कस्बे के आस पास के काफी गांव से विद्यार्थी आते हैं इसलिए इस विद्यालय में विद्यार्थियों की संख्या बड़ी हैं ऐसे में शिक्षा विभाग और क्षेत्र के जनप्रतिनियों को समय रहते इस समस्या को देखकर भवन की मरम्मत करवा दी जाए तो इन डर के साए में पढ़ रहे बच्चों का भविष्य  ठीक हो सकता है।

-पुरानी जर्जर बिल्डिंग होने से कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है
-वर्षों पुरानी बिल्डिंग होने के कारण जगह-जगह क्षतिग्रस्त हो चुकी हैं
-छात्र छात्राओं के लिए खतरों भरी हैं यह पढाई
-विद्यार्थी जर्जर भवन में भयभीत होकर पढ़ने को विवश 
-भवन की हालत ऐसी कभी भी बिल्डिंग हो सकती हैं ध्वस्त


विद्यालय में बने टांके में पेड़ों की जड़ें आने से टांका क्षतिग्रस्त
विद्यालय परिसर में बने पानी के टाँके के अंदर आसपास के पेड़ों की जड़ें आने से टाँके में पानी नहीं रुकता है। पानी नहीं रूकने से विद्यार्थियों के सामने पानी का भी संकट उत्पन्न हो जाता है। जलदाय विभाग का कनेक्शन होने के बावजूद भी पानी नहीं रूकने का कारण क्षतिग्रस्त टाँके में पेड़ों की जड़े आने का
है।


प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान की उड़ रही है धज्जियां 
विद्यालय की दीवार के आसपास गंदगी का आलम छाया हुआ है। आसपास के ग्रामीण विद्यालय की दीवार के सहारे खुले में कचरा फेंक देते हैं और आसपास के लोग दीवार के सहारे सटकर पेशाब करने से विद्यालय के आसपास गंदगी का ढेर लगने से विद्यालय में बदबू आने से पढ़ाई प्रभावित हो जाती है। ऐसी गंदगी से बच्चों में बीमारियों का अंदेशा बना रहता है । ऐसे इस मामले में पंचायत प्रस्ताव प्रशासन बेपरवाह नजर आ रहा है।

इनका कहना हैं

"विद्यालय में जो बनी बीच बिल्डिंग जर्जर है उसको समय पर डिफ्लेक्ट करना है इसकी सूचना आगे भेजनी है।" 

(ओमप्रकाश कार्यवाहक प्रधानाचार्य राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय कानोड़)

कोई टिप्पणी नहीं