Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

दीनदयाल उपाध्याय शिविरों का अधिकाधिक फायदा उठाएंःचौधरी

रात्रि चौपाल में बीएलएल सूची से नाम हटाने की पहल बाड़मेर, 03 दिसंबर। राज्य सरकार की ओर से आमजन की समस्याओं का स्थानीय स्तर पर समाधान ...

रात्रि चौपाल में बीएलएल सूची से नाम हटाने की पहल
बाड़मेर, 03 दिसंबर। राज्य सरकार की ओर से आमजन की समस्याओं का स्थानीय स्तर पर समाधान करने के लिए ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन कल्याण शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। आमजन जागरूक होकर इन शिविरों में अपनी समस्याओं का समाधान करवाएं। राजस्व राज्य मंत्री अमराराम चौधरी ने शुक्रवार रात्रि में जसोल ग्राम पंचायत मुख्यालय पर आयोजित रात्रि चौपाल के दौरान यह बात कही।

राजस्व राज्यमंत्री अमराराम चौधरी ने कहा कि इन शिविरों में ग्रामीण आवश्यक रूप से श्रमिक कार्ड भी बनवाएं, ताकि उनको श्रमिकों के कल्याण के लिए चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं का फायदा मिल सके। उन्होंने ग्रामीणों से पोलिथिन का इस्तेमाल रोकने एवं सिलकोसिस से बचाव के लिए आवश्यक इंतजाम करने की अपील की। उन्होंने राज्य सरकार की विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी।
इस दौरान जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने रात्रि चौपाल के दौरान ग्रामीणों की ओर से पेश किए गए विभिन्न परिवादों पर आवश्यक कार्यवाही कर राहत पहुंचाने का भरोसा दिलाया। उन्होंने ग्रामीणों से आगे आकर बीपीएल सूची से नाम हटवाने का अनुरोध किया। इस दौरान अशोक कुमार पुत्र चंपाराम ने स्वेच्छा से बीपीएल सूची से नाम हटाने का अनुरोध किया। इस पर जिला कलक्टर ने इस तरह की पहल को सराहनीय बताया। इसके उपरांत तीन अन्य लोगों डूंगराराम, पूंजाराम एवं परमेश्वरी पत्नी मदनलाल ने भी बीपीएल सूची से नाम हटाने का अनुरोध किया। रात्रि चौपाल के दौरान ग्रामीणों ने पुरानी आबादी से सटी 500 मीटर परिधि क्षेत्र के खसरों में बसी आबादी भूमि को जसोल ग्राम पंचायत को हस्तातंरित करने की मांग रखी। इस पर राजस्व राज्यमंत्री अमराराम चौधरी ने अपेक्षित कार्यवाही का भरोसा दिलाया। रात्रि चौपाल में उपखंड अधिकारी प्रभातीलाल जाट,पचपदरा तहसीलदार भागीरथ चौधरी, बालोतरा पंचायत समिति के विकास अधिकारी सांवलाराम चौधरी,जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियंता नेमाराम, सीएमएचओ डा.एस.के.एस.बिष्ठ, सरपंच जालमसिंह समेत विभिन्न जन प्रतिनिधि एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं