Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

नही मिला उपचार तड़प-तड़प कर मरा हिरण, इलाज मिलता तो बच सकती थी

बाड़मेर/धोरिमन्ना। उपखंड के मिठड़ा खुर्द मे हिरकन का थान ब्रहामणो की ढाणी के पास आवारा कुतो के झुण्ड ने एक हिरण पर हमला कर नोंच दिया। पास...

बाड़मेर/धोरिमन्ना। उपखंड के मिठड़ा खुर्द मे हिरकन का थान ब्रहामणो की ढाणी के पास आवारा कुतो के झुण्ड ने एक हिरण पर हमला कर नोंच दिया।
पास सड़क मार्ग से गुजर रहे रोली निवासी धर्मेश कुमार गौड़ ने गाड़ी रोक कर पीछा कर हिरण को छुड़ाया, ओर घटना की जानकारी वन्यजीव प्रेमियो को दी। सुचना मिलने पर वन्यजीव प्रेमी भंवरलाल विश्नोई, जगदीश गौड़ नेमाराम गौड़ घटनास्थल पर पहुंचे, ओर घायल हिरण को धोरिमन्ना वन विभाग के रेस्क्यू सेन्टर लेकर आये। लेकिन रेस्क्यू सेन्टर मे काफी देर तक डाक्टर नही पहुचने पर घायल हिरण ने तड़प-तड़प कर दम तोड़ दिया। वही दूसरी ओर अलग-अलग आवारा कुतो के हमला कर हिरणो को घायल करने की घटनाए हुई जिसमे कबुली (भादूओ की ढाणी) दो सुनारो की बेरी लुखु ओर बाछला गांव मे अज्ञात वाहन की टक्कर घायल हिरणो धोरिमन्ना रेस्क्यू सेन्टर लाया गया। लेकिन उपचार उचित व्यवस्था नही होने पर वन्यजीव  प्रेमियो द्वारा अमृता देवी उधान धमाणा (साचोर) भेजा गया।
इनका कहना है

धोरिमन्ना वन विभाग मे डाक्टर की व्यवस्था नही है फोन कर बुलाना पड़ता है इसलिए समय ज्यादा लग जाता है अधिकांश घायल हिरण रेस्क्यू सेन्टर मे ही दम तोड़ देते है।-वन्यजीव प्रेमी भंवरलाल विश्नोई।

कोई टिप्पणी नहीं