Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान में सक्रिय भागीदारी निभाएंःशर्मा

जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने बहुराष्ट्रीय कंपनियों, व्यापारिक संगठनों, ठेकेदारों से मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान में सक्रि भागीदारी निभान...

जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने बहुराष्ट्रीय कंपनियों, व्यापारिक संगठनों, ठेकेदारों से मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान में सक्रि भागीदारी निभाने का आहवान किया।
बाड़मेर,17 जनवरी। मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान में किसी न किसी रूप में अपनी भागीदारी दर्ज करवाकर इसको सफल बनाएं। इस अभियान में सक्रिय भागीदारी के लिए सबको समन्वित प्रयास करने की जरूरत है। बारिश के पानी को सहेजने के इस अभियान को जन आंदोलन बनाना होगा। जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने बुधवार को कलेक्ट्रेट कांफ्रेस हाल में जिले में कार्यरत बहुराष्ट्रीय कंपनियों, उद्योगपतियों, व्यापारिक संगठनों एवं ठेकेदारों तथा भामाशाहों की एक दिवसीय कार्यशाला के दौरान यह बात कही।
इस दौरान जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के प्रथम चरण के उत्साहजनक नतीजों के बाद 9 दिसंबर से द्वितीय चरण की शुरूआत की गई है। बाड़मेर जिले की 17 पंचायत समितियों की 37 ग्राम पंचायतों के 124 गांवों में मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के द्वितीय चरण के तहत 5953 जल संरक्षण कार्य कराए जाएंगे। जिला कलक्टर ने कहा कि जल संरक्षण के इस महत्वाकांक्षी अभियान में सबसे सहयोग किया जाना अपेक्षित है। उन्होंने कहा कि इसके लिए अपने स्तर पर कार्य करवाने के साथ मशीनरी अथवा आर्थिक सहयोग किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि इस अभियान के तहत जिले में वृहद स्तर पर रैन वाटर हार्वेस्टिंग संरचनाएं निर्मित होगी जिससे वर्षाती जल संग्रहण होगा जो आने वाली पीढी के लिए भी वरदान साबित होगा। उन्होंने कहा कि प्रथम चरण में बुड़ीवाड़ा में हुए अच्छे कार्य का मुख्यमंत्री महोदया ने बजट भाषण के दौरान भी उल्लेख किया। इस दौरान बहुराष्ट्रीय कंपनियों के प्रतिनिधियो, उद्योगपतियों, व्यापारिक संगठनों एवं ठेकेदारों तथा भामाशाहों ने अपनी ओर से अपेक्षित सहयोग करने का भरोसा दिलाया। 
कार्यशाला के दौरान जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने कहा कि मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान के जरिए प्रत्येक गांव को जल के लिहाज से आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति जल की एक-एक बूंद को सहेजने में अपना सक्रिय योगदान दें। उन्होंने कहा कि लोगों को इस अभियान की अहमियत समझाने के साथ उनकी भागीदारी सुनिश्चित करने का प्रयास किया जाए। उन्होंने उपस्थित संभागियों से मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के द्वितीय चरण को शत-प्रतिशत सफल बनाने में सहयोग देने की अपील की। 
इस अवसर पर अधीक्षण अभियंता आईडब्ल्यूएमपी बलवीरसिंह ने मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत कराए जाने वाले कार्याें के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि प्रथम चरण के दौरान कराए गए कार्याें के अच्छे नतीजे आए है। उन्होंने प्रजेटेंशन के जरिए प्रथम चरण के कार्याें की सफलता एवं द्वितीय चरण में प्रस्तावित कार्याें के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि बरसाती जल संग्रहण के इस पावन अभियान में तन-मन एवं धन के साथ पूरा सहयोग देकर सहभागी बनें, ताकि यह अभियान जल के रूप में वरदान साबित हों। इस दौरान सहायक अभियंता ताराचंद शर्मा के साथ विभिन्न बहुराष्ट्रीय कंपनियों के प्रतिनिधि, होटल मालिक एवं व्यापारी उपस्थित रहे।
विभिन्न संगठनों एवं विभागीय प्रतिनिधियों ने दिया सहयोग का आश्वासनः कार्यशाला के दौरान केयर्न इंडिया ने 1.25 करोड़, बाड़मेर लिग्नाइट कंपनी के प्रतिनिधि ने 8 सामुदायिक कार्याें के लिए 16.30 लाख, उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक ने विभिन्न औद्योगिक संस्थाओं से 15 लाख, वाणिज्यिक कर अधिकारी ने व्यापारिक संगठनों से 20 लाख का आर्थिक सहयोग कराने का आश्वासन दिया। इस दौरान आकाश एक्प्लारेशन एवं स्लम्बर कंपनी के प्रतिनिधि ने दस हजार रूपए का आर्थिक सहयोग जमा कराया। इसी तरह सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से आगामी दिनों में ठेकेदारों के साथ बैठक आयोजित कर यथासंभवन सहयोग करने का आश्वासन दिया गया।

कोई टिप्पणी नहीं