Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

भाईचारे एवं बेटी बचाने का संदेश लेकर तनोट पहुंची सदभावना यात्रा

@ मदन बारूपाल भारत-पाक पष्चिमी सीमा से पष्चिमी सरहद पर सदभावना यात्रा गुजरी जयहिन्द के साथ हुआ स्वागत पष्चिमी सीमा से (तनोट) ,03 जनवरी...

@ मदन बारूपाल भारत-पाक पष्चिमी सीमा से

पष्चिमी सरहद पर सदभावना यात्रा गुजरी जयहिन्द के साथ हुआ स्वागत
पष्चिमी सीमा से (तनोट) ,03 जनवरी। पष्चिमी सरहद पर शांति एवं भाईचारे का संदेश लेकर निकाली जा रही सदभावना यात्रा तनोट पहुंची। सदभावना यात्रा में शामिल सदस्यों ने मातेष्वरी तनोटराय मंदिर में पूजा-अर्चना कर देश में अमन,चैन एवं भाईचारे की दुआ मांगी। 

भारत-पाक से सटी अंतरराष्टीय सीमा पर सदभावना यात्रा ने लोगेवाला में सीमा सुरक्षा बल के जवानों से रूबरू होकर भारत-पाक युद्व 1971 के दौरान भारतीय सेना के गौरवशाली अतीत को विस्तार से जाना। इस दौरान फिल्म के जरिए भारतीय सेना के युद्व के दौरान पाकिस्तानी सेना को करारा जबाव देने एवं उस समय की विकट परिस्थितियों के बावजूद उनको रोककर रखने के लिए अपनाई गई रणनीति के बारे में विस्तार से जानकारी ली।
सीमा पर तैनात जवानों ने बताया कि पाकिस्तान से तनोट में नाष्ता करने एवं जैसलमेर में दिन का खाना तथा जोधपुर में रात का खाना खाने अर्थात उनकी भारतीय इलाकों में पाकिस्तानी सेना के कब्जा करने की रणनीति बताई। लोगेवाला में भारतीय सेना के छोटी टूकड़ी थी, जबकि रात्रि में पाकिस्तानी सेना की टैंक रेजीमेंट ने हमला बोल दिया। उस समय रात्रि के समय भारतीय वायुसेना पाकिस्तान के इस हमले को रोकने की स्थिति में नहीं थी। ऐसे में लोगेवाला पर तैनात जवानों को रोककर रखने की जिम्मेदारी थी। ऐसा नहीं होने की स्थिति में पाकिस्तानी सेना जैसलमेर के हवाई अडडे पर कब्जा कर लेती। लोगेवाला में तैनात जवानों ने पाक रेंजीमेंट का करारा जबाव दिया, दूसरे दिन सुबह भारतीय वायुसेना ने बम्बबारी करते हुए पाकिस्तानी टैंक रेंजीमेंट को वापिस भागने के लिए मजबूर कर दिया। इस युद्व में पाकिस्तान को भारी नुकसान हुआ।

सदभावना यात्रा ने मातेष्वरी तनोटराय मंदिर में पूजा-अर्चना कर देश में खुशहाली, अमन चैन,भाईचारे की कामना की। इस दौरान विभिन्न सीमा चौकियों, ग्रामीण इलाकों में बेटी बचाने एवं उनको पढ़ाने,स्वच्छ भारत मिशन एवं सड़क सुरक्षा का संदेश दिया। इससे पहले सीमा सुरक्षा बल के अतिरिक्त महानिदेशक सेवानिवृत एम.एल.बाथम की अगुवाई में कोटेष्वर से प्रारंभ हुई सदभावना यात्रा ने बाड़मेर एवं जैसलमेर सीमा सुरक्षा बल सेक्टर की  विभिन्न सीमा चौकियों का अवलोकन किया। सदभावना यात्रा का आयोजन केयर्न इंडिया, इंडियन रेडक्रास सोसायटी, धारा संस्थान,नेहरू युवा केन्द्र,स्वच्छ भारत मिशन, चिकित्सा विभाग, महिला मंडल बाड़मेर आगोर, परिवहन विभाग समेत विभिन्न संस्थानों के सहयोग से किया जा रहा है।
सीमा सुरक्षा बल के सेवानिवृत अतिरिक्त महानिदेशक एम.एल.बाथम की अगुवाई में निकाली जा रही सदभावना यात्रा में सहायक जनसंपर्क अधिकारी मदन बारूपाल, आईईसी कसंलटेंट सीसीडीयू अशोक राजपुरोहित,विजय कुमार, जसवंतसिह, प्रवीण बोथरा, दीपक जैलिया, ठाकराराम मेघवाल, पप्पू कुमार बृजवाल, मोहन बृजवाल,मगा पर्वत शामिल है। सदभावना यात्रा ने सरहद पर तैनात जवानों की कार्यशैली के बारे में भी जानकारी हासिल की।

कोई टिप्पणी नहीं