Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

बालिकाओं को प्रोत्साहित करने की शुरूआत घर से करनी होगीःजिंदल

-राष्ट्रीय बालिका दिवस पर जिले भर में हुआ कई कार्यक्रमों का आयोजन बाड़मेर, 24 जनवरी। बेटा-बेटी में असमानता खत्म करने की पहल अपने घर ...

-राष्ट्रीय बालिका दिवस पर जिले भर में हुआ कई कार्यक्रमों का आयोजन
बाड़मेर, 24 जनवरी। बेटा-बेटी में असमानता खत्म करने की पहल अपने घर से करनी होगी। बेटियां आज किसी भी क्षेत्र में कम नहीं है। बेटियों को प्रोत्साहित करने के लिए राज्य सरकार की ओर से विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की शुरूआत की गई है। बाड़मेर जिला मुख्यालय पर भगवान महावीर टाउन हाल में महिला अधिकारिता विभाग की ओर से राष्ट्रीय बालिका दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित जिला स्तरीय समारोह के दौरान गंगानगर विधायक श्रीमती कामिनी जिंदल ने यह बात कही।
इस अवसर पर विधायक श्रीमती कामिनी जिंदल ने कहा कि समाज में बालिकाओं को बोझ नहीं समझा जाए। उन्होंने कहा कि बालिकाओं के उत्थान के लिए सरकार ने कई योजनाएं प्रारंभ की है। उन्होंने गंगानगर में बालिकाओं के प्रोत्साहन के लिए प्रारंभ किए गए कन्या लोहिड़ी परंपरा का जिक्र करते हुए कहा कि बालिकाओं को शिक्षा से जोड़ने एवं हर क्षेत्र में आगे बढाने के लिए वृहद स्तर पर प्रोत्साहित करने की जरूरत है। उन्होंने राजश्री बीमा योजना के बारे में जानकारी देते हुए सरकारी योजनाओं से अधिकाधिक बालिकाओं को लाभांवित करवाने की जरूरत जताई। 
समारोह के दौरान जिला परिषद के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी डा.गुंजन सोनी ने कहा कि बालिकाओं के उत्थान के लिए सरकारी योजनाओं को धरातल पर क्रियान्वित करने के प्रयास किए जा रहे है। उन्होंने कहा कि महिलाओं ने प्राचीनकाल से अब तक विभिन्न क्षेत्रों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उन्होंने बालिकाओं को समाज का महत्वपूर्ण अंग बताते हुए कहा कि इनके सर्वागीण विकास के लिए समन्वित प्रयास करने की जरूरत है। उन्होंने महिला एवं बाल विकास विभाग की विभिन्न योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इस दौरान राजकीय महाविद्यालय की प्राचार्य डा.ललिता मेहता ने कहा कि मौजूदा समय में बालिकाएं हर क्षेत्र में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर रही है। उन्होंने बेटियों को हर क्षेत्र में सम्मानित एवं प्रोत्साहित करने की जरूरत जताते हुए कहा कि उनको किसी भी रूप में कम नहीं आंका जाए। उन्होंने महिलाओं की ओर से विभिन्न क्षेत्रों में किए गए उल्लेखनीय कार्याें के विविध पहलूओं से अवगत कराया।
इस दौरान महिला अधिकारिता विभाग के कार्यक्रम अधिकारी प्रहलाद सिंह राजपुरोहित ने कहा कि राज्य सरकार ने बालिकाओं के उत्थान के लिए कई योजनाएं प्रारंभ की है। उन्होंने गिरते जा रहे लिंगानुपात को रोकने एवं बेटियों की स्थिति सुधारने के लिए वृहद स्तर पर प्रयास करने की जरूरत जताई।
उन्होंने कहा कि आमजन की भागीदारी से ही इसको रोका जा सकता है। जिला स्तरीय समारोह के दौरान जिला विधिक सेवा समिति की बाड़मेर के प्रतिनिधि पैनल अधिवक्ता पन्नालाल जांगिड़, महिला एवं बाल विकास अधिकारी ग्रामीण नरपतसिंह अतिथि के बतौर उपस्थित रहे।
कार्यक्रम का संचालन दुर्गसिंह सोढ़ा ने किया। समारोह के दौरान बालिकाओं से संबंधित विभिन्न मुद्दो पर आधारित प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया।
साथ ही प्रस्तुतियां देने वाली बालिकाओं को अतिथियों की ओर से स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं