Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

अब धन के आगे गुण गौण हो गये हैं:लाभरूचि

प्रतिदिन स्वाध्याय अवश्य करें 27 को होगा पदमावती महापूजन बाड़मेर 24 जनवरी। मनुष्य भव दुलर्भ है,ये पुण्य कर्मो का ही नतीजा है कि हमें ...

प्रतिदिन स्वाध्याय अवश्य करें
27 को होगा पदमावती महापूजन
बाड़मेर 24 जनवरी। मनुष्य भव दुलर्भ है,ये पुण्य कर्मो का ही नतीजा है कि हमें मानव जन्म मिला है ओर इसको सार्थक बनाने के लिए मनुष्य को धर्म के मार्ग पर चलते हुए पुण्य कर्म का उर्पाजन करना चाहिये। ये बात नवकार धाम के संस्थापक लाभरूचि गुरू ने मंगलवार को महावीर सर्किल के पास आयोजित प्रवचन के दौरान कही।
उन्होने वर्तमान हालातो पर चुटकी लेते हुए कहा कि आजकल जिसके पास धन है वो धन्य कहलाता है मगर वास्तव में तो महता तो गुण की होनी चाहिये अब धन के आगेे गुण गौण हो गये है। उन्होने मिले मानव जन्म को सार्थक करने के लिए गुरू के बताया मार्ग पर चले। उन्होने कहा कि गुरू बने बिना कई मौक्ष गये मगर गुरू बनाये बगैर कोई मौक्ष नही गया। उन्होने कहा कि गुरू बिना मौक्ष सम्भव नही। लाभरूचि गुरू ने श्रावक-श्राविकाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि आधुनिकता की इस अन्धी दौड़ में संस्कार मानव जीवन से गायब होते जा रहे है। उन्होने मोबाईल युग पर कडा प्रहार करते हुए कहा कि इस मोबाईल ने इन्सान को अकेला कर दिया है। सेल्फी के इस जमाने ने दुसरे इन्सान की मदद शब्द को ही खत्म कर दिया है। उन्होने कहा कि तेजी से बदलते इस युग में आत्म चिन्तन की आवश्यकता है। लाभरूचि ने कहा कि वो ज्यादा नही कहते पर रोज 15 मिनट स्वाध्याय अवश्य करें। प्रवचन के बाद गुरू भक्त कैलाश मेहता ने बताया कि 27 जनवरी को गडरा रोड पर पदमावती महापूजन का आयोजन होगा। उन्होने बताया कि लाभरूचि गुरूदेव का 27 जनवरी तक कैसे सुधारे जीवन को,घर को घर बनाये मकान नही जैसे ज्वलन्त विषयो पर दैनिक प्रवचन होगा वही 27 जनवरी की सांय को गुरूदेव नवकार धाम की ओर विहार कर जायेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं