Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

कुर्जा में चोथे दिन द्वारोद्घाटन के साथ महोत्सव का हुआ समापन

कुलदेवी की कृपा से ही होता है गौत्र का कल्याण-मनोज्ञ सागर बाड़मेर 13 फरवरी । प्राण प्रतिष्ठा के बाद प्रथम बार द्वारोद्घाटन सोमवार को प्...

कुलदेवी की कृपा से ही होता है गौत्र का कल्याण-मनोज्ञ सागर
बाड़मेर 13 फरवरी । प्राण प्रतिष्ठा के बाद प्रथम बार द्वारोद्घाटन सोमवार को प्रातःशुभ मर्हुत में किया गया उसके पश्चात कुलदेवी की आरती की गई। बाड़मेर-अहमदाबाद रोड पर बाड़मेर नगर से 12 किलोमीटर दुरी पर स्थित श्री संचियाय माता मंदिर कुर्जा में सोमवार को कुलदेवी दर्शन, आंगी रोशनी, प्रसादी व् आरती के नवकारसियों के साथ महोत्सव का भव्यता के साथ समापन हुआ ।
श्री संचियाय माता मंदिर प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव समिति के संयोजक मांगीलाल मालू व  प्रवक्ता कपिल मालू ने बताया कि महोत्सव के अन्तिम दिन आयोजित धर्मसभा में उपाधयाय प्रवर मनोज्ञ सागर ने अपने मांगलिक प्रवचन में उपस्थित श्रद्धालुओं को ऐतिहासिक एवं सफल आयोजन के लिए सभी को बधाईयां दी । उपाधयाय प्रवर ने कहा कि कुलदेवी  की असीम कृपा से पुरे मालू गोत्र का कल्याण और उद्वार होगा। 
नवकारसी के लाभार्थी परिवार का निकला वरघोड़ा, हुआ भव्य स्वागतप्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव समिति के सहसंयोजक दिलीप मालू ने बताया कि महोत्सव के सोमवार को प्रातः शुभ मुहूर्त में द्वारोघाटन के लाभार्थी लूणीदेवी स्व.रिखबदास मालू परिवार रामसर वालो द्वारा  द्वारोद्घाटन के बाद सुबह के नास्ते, चाय व्  दोपहर में नवकारसी के लाभार्थी के सदस्यों का हाथीपर सवार होकर, गाजे-बाजे एवं बैंड-बाजे के साथ सकल संघ के साथ में भव्य वरघोड़ा निकाला गया। वरघोड़े में उपाधयाय प्रवर मनोज्ञ सागर म.सा. सहित ट्रस्ट मण्डल एवं महोत्सव समिति के सदस्यों ने शिरकत की। जहां सुबह नास्ते व् दोपहर की नवकारसी के लाभार्थी परिवार के सदस्यों व् प्रतिष्ठा में लाभार्थी परिवारो  का श्री संचियाय माता रंगमंडप में महोत्सव समिति की ओर से तिलक, माला, साफा, श्रीफल एवं स्मृति-चिन्ह से बहुमान किया गया । 
मालू भाईपा समाज एवं महोत्सव समिति ने जताया आभार -प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव के अन्तिम दिन सोमवार को अभिनन्दन कक्ष में आयेाजित सभा में महोत्सव समिति के मुख्य संयोजक मांगीलाल मालू एवं ट्रस्ट मण्डल के नवनिर्मित  अध्यक्ष मोहनलाल मालू ने महोत्सव में प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष सहयोग, योगदान देने वाले सभी सज्जनों, संस्थाओं एवं विभागों का धन्यवाद एवं आभार ज्ञापित किया और उनके द्वारा दिये गये सहयोग की भूरि-भूरि अनुमोदना की ।
जिला कलेक्टर ने की शिरकत-प्रतिष्ठा महोत्सव में सोमवार  को जिला कलेक्टर सुधीर कुमार शर्मा, नगर परिषद् सभापति लूणकरण बोथरा, नाकोड़ा ट्रस्ट के अध्यक्ष अमृतलाल छाजेड़, जैन श्री संघ के अध्यक्ष सम्पतराज बोथरा, प्रतिष्ठा महोत्सव के मुख्य संयोजक मांगीलाल मालू, मालू भाईपा समाज के नवनिर्मित अध्यक्ष मोहनलाल मालू, नाकोड़ा ट्रस्टी वीरचंद वडेरा, गौतम सिंघवी, रिखबदास मालू, हुकमीचंद मालू, मांगीलाल मालू जनता, मोहनलाल मालू, बाबूलाल मालू, डॉ रणजीतमल जैन, शिक्षाविद् डॉ बंशीधर तातेड, मांगीलाल वडेरा, बाबूलाल टी बोथरा, सम्पतराज दिल्ली, प्रकाश सर्राफ, कैलाश कोटडिया, एडवोकेट मुकेश जैन, जोगेन्द्र सिंह चैहान, रमेश सर्राफ, छगन बोथरा,प्रकाश मालू रामसर, रतनलाल मालू, कैलाश झाख, सुरेश आरंग,पवन पटुडा, मुकेश मालू, मुकेश बोहरा, मदन बोथरा, सहित बाड़मेर, धोरीमना, चोहटन एवं युवा मण्डलों सहित सैंकड़ों की संख्या में जैन समुदाय के महिला-पुरूष उपस्थित रहे ।

उपाध्याय प्रवर का हुआ बाडमेर की और विहार
गुरूभक्त मुकेश मालू ने बताया कि वसी मालाणी रत्नशिरोमणि ब्रह्मसर तीर्थोद्वारक उपाध्याय प्रवर मनोज्ञसागर जी म.सा. व नयज्ञ सागर जी म.सा. का 12 फरवरी को मालू गौत्रीय कुलदेवी संच्चियाय माता जी की प्राण-प्रतिष्ठा व 13 फरवरी को द्वारोदघाटन के बाद 10 बजे गुरूदेव का विहार कुशल वाटिका की और हुआ जहा कुछ समय विश्राम के बाद शाम 4 बजे बाडमेर की और विहार हुआ आज गुरूदेव महावीर सर्कल के पास पारख भवन विराजमन है।

कोई टिप्पणी नहीं