Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

लब्धिनिधान पार्श्व-मणिधारी तीर्थ की पत्रिका का हुआ विमोचन

बाड़मेर, 14 फरवरी। बाड़मेर जिला के मालाणी क्षेत्रांतर्गत अरावली पर्वतमालाओं के बीच चौहटन नगर में परम पूज्य खरतरगच्छाचार्य श्री जिनपीयूषसा...

बाड़मेर, 14 फरवरी। बाड़मेर जिला के मालाणी क्षेत्रांतर्गत अरावली पर्वतमालाओं के बीच चौहटन नगर में परम पूज्य खरतरगच्छाचार्य श्री जिनपीयूषसागर सुरीश्वरजी म.सा. की पावन प्रेरणा से उदीयमान हो रहे लब्धिनिधान पार्श्वनाथ-मणिधारी तीर्थ के भूमि शुद्धि, भूमि अधिग्रहण, भूमिपूजन कार्यक्रम की आमन्त्रण पत्रिका का लेखन आज चैहटन नगर में शांतिनाथ जिनालय में प.पू. महत्तरा श्री चंपाश्रीजी म.सा. की सुशिष्या प.पू. साध्वी श्री विमलप्रभा श्रीजी म.सा. की निश्रा एवं वासक्षेप प्रदान कर आरम्भ हुआ।
विचक्षण स्नात्र मंडल के मांगीलाल डोसी ने बताया कि परम पूज्य खरतरगच्छाचार्य श्री जिनपीयूषसागर सुरीश्वरजी म.सा. की पावन प्रेरणा से  चौहटन नगर से विरात्रा जाने वाली रोड़ पर ढोक ग्राम में अरावली पर्वतमालाओं की सुरमय वसुंधरा पर विशाल भूभाग पर लब्धिनिधान पाश्र्वनाथ मणिधारी तीर्थ की परिकल्पना की गई है।
इस विशाल भूभाग का लब्धिनिधान पाश्र्वनाथ भगवान का भव्य जिनालय, दादावाड़ी, म्युजियम इत्यादि का निर्माण होगा। इस परिकल्पना को साकार रूप देने के लिए आचार्य भगवंत एवं मालाणी क्षेत्र में विराजित गुरू भगवंतों की पावन निश्रा में 3 मार्च शुक्रवार को प्रातः 8.00 बजे स्नात्र पूजा, 8.36 बजे नगग्रह पूजा, दशदिग्पाल पूजन, अष्टमंगल पूजन, 9.45 बजे नाकोड़ा भैरव पूजन, क्षेत्रपाल पूजन, 10.36 बजे विभिन्न तीर्थोें को जल से भूमि शुद्धि एवं भूमिपूजन तत्पश्चात् दोपहर 12.36 बजे साधर्मिक भक्ति के कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा। इस अवसर पर जैन संगीत सम्राट नरेन्द्र वाणगोता एण्ड पार्टी मुम्बई द्वारा सुमधुर आवाज में भजनों की प्रस्तुति देते हुए कार्यक्रम का संचालन किया जायेगा। 
पत्रिका लेखन मूहूर्त के इस अवसर पर मांगीलाल जी डोशी, रतनलाल बोथरा, रिखबदास बोथरा, बाबूलाल धारीवाल(रामा), आसुलाल सेठिया, भंवरलाल डोशी, भंवरलाल सेठिया, प्रकाश बोथरा, भंवरलाल छाजेड़, प्रकाश धारीवाल, जुगलकिशोर धारीवाल, पारसमल सेठिया, नानकदास धारीवाल, पवन मालू, सोहनलाल डोशी, महेंद्र धारीवाल, संजय मालू, गौतम संखलेचा, बाबूलाल मालू, बाबूलाल भंसाली, बंसीधर जी जैन कोनरा, जगदीशचन्द डोशी, पारसमल डोशी, छोगालाल जी, पवन डोशी, संपतराज वडेरा, दिनेश सेठिया, हंसराज बोथरा, सुखराज डोशी, प्रकाश सेठिया, सहित समाज के गणमान्य श्रावकगण उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं