Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

फलसुण्ड। ऐतिहासिक मूर्तियां खंडित ग्रामीणों में आक्रोश

@ गणेश जैन जैसलमेर। जिले के घनी आबादी वाले क्षेत्र फलसूण्ड के पुराना फलसूण्ड कोटवाली नाड़ी के पास गोचर में सैकड़ों वर्षों पूर्व स्थाप...

@ गणेश जैन

जैसलमेर। जिले के घनी आबादी वाले क्षेत्र फलसूण्ड के पुराना फलसूण्ड कोटवाली नाड़ी के पास गोचर में सैकड़ों वर्षों पूर्व स्थापित जुंजारो की दो मूर्तियों की एक समुदाय द्वारा खंडित करके टुकड़े टुकड़े करके फेंक दिए एवम् उन्हीं मूर्ति स्थान पर एक बहुत बड़ी बिल्डिंग बनाने का कार्य अभी शुरू किया हुआ था जो गोचर भूमि में बनवाया जा रहा है।

वहीं इस समुदाय द्वारा हिन्दू समुदाय के बने ऐतिहासिक स्थल के साथ छेडछाड की गई है जिससे पूरे क्षेत्र में गहरा आक्रोश फैला हुआ है ग्रामीणों ने जिला कलेक्टर के नाम तीन अलग अलग ॻ्यापन उपखण्ड अधिकारी पोकरण,नायब तहसीलदार फलसूण्ड,थानाधिकारी फलसूण्ड को देकर बताया कि यदि प्रशासन द्वारा समय रहते हुए कार्यवाही नहीं की गई तो बहुत बड़ा दंगा उत्पन्न हो सकता है।

उत्पन्न हो सकता है हिन्दू मुस्लिम दंगा 
ग्रामीणों से वार्ता करने में ग्रामीणों ने बताया कि यदि समय रहते कोई कार्रवाई नहीं की जाती है तो आगामी तीन चार दिन में एक बहुत बड़ी विशाल हिन्दू आक्रोश रैली निकाली जाएगी एवम् फलसूण्ड बन्द रखते हुए विरोध प्रदर्शन किया जाएगा जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।
क्या है इतिहास
सैकड़ों वर्ष पहले फलसूण्ड इन्हीं मूर्ति स्थल पर स्थापित था वही फलसूंडिया राठौङ यहां रहते थे उसके बाद में जोधा राठौङो ने यहां निवास कर दिया वहीं यहां मूर्ति स्थल पर पूरे फलसूण्ड क्षेत्र के सभी हिन्दू समाज द्वारा प्रतिवर्ष एक जागरण का आयोजन किया जाता है परन्तु एक समुदाय द्वारा अब मूर्तियों को वहां से तोड़ करके फैक देना यह एक प्रमुख कारण बन गया है कि अब होने वाला जागरण कहा रखा जाएगा।

अधिकारी पहुंचे घटना स्थल पर
घटना की जानकारी आग की तरह फैल गई जैसे जैसे लोगों को सूचना मिली वैसे वैसे लोग इक्कठे होने शुरू हो गए ग्रामीणों ने जिला कलेक्टर सहित सभी अधिकारियों सहित जनप्रतिनिधियो को इस घटना की जानकारी दी गई तो घटना स्थल पर पोकरण उपखण्ड अधिकारी मूल सिंह राजावत, भणियाणा तहसीलदार पुखराज भार्गव फलसूण्ड सब इंस्पेक्टर ओमप्रकाश चौधरी फलसूण्ड नायब तहसीलदार पदमाराम सहित राजस्व विभाग के कर्मचारी पहुंच कर घटना स्थल का मौका मुअावना किया गया। वही अधिकारियों के साथ स्थानीय ग्रामीण ठाकुर गंगा सिंह, दलपत सिंह, मदन सिंह, भंवर लाल कुमावत, हजारी कुमावत, कुलदीप सिंह, मोहन मेघवाल, दानसिंह जोधा, रतनसिंह जोधा, पेपसिह, बाबूसिंह पारासर, पेपसिह कजोई, इगाराम भील, हरू पूरी स्वामी, नंदकिशोर राठी, बालजी चाण्डक, गणेश जैन, गुलाबसिंह गड़ी, नाथूसिंह जोधा, मेताब सिंह, अन्दा राम भील, भवरलाल कुमावत, फतेसिंह भाटी, दशरथ सिंह दातल, सहित सेकड़ो की संख्या में ग्रामीण हुए उपस्थित रहे।
जिला कलेक्टर जैसलमेर मातादीन शर्मा ने बताया की अगर मूर्तियो को खंडित कर मौके हटा कर उस जगह पर कोई निर्माण कार्य किया हे तो भवन को ध्वस्त करेंगे और दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त शीघ्र ही कार्यवाई की जायेगी।

कोई टिप्पणी नहीं