Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

दिल में तेरे प्यार को

दिल में तेरे प्यार को दिल में तेरे प्यार को मैंने , गिरह बांध कर रखा है , यह मत देखो , जीवन , किस सांचे में ढल कर रखा है ....

दिल में तेरे प्यार को
दिल में तेरे प्यार को मैंने,
गिरह बांध कर रखा है,
यह मत देखो, जीवन, किस
सांचे में ढल कर रखा है.

ऊपर से  जो दिखता हूँ मैं
इस दुनिया की मेहरबानी है,
मेरे भीतर झांक कर देखो
अलग ही एक कहानी है.
दिल के अंदर एक मंदिर  है
दिया बाल   कर रखा है.

चलते-चलते थक जाता हूँ
खोल गिरह  संग हो  लेता हूँ
कुछ  रो कर क़ुछ हँस कर,
तुझ संग बातें कर
कुछ पल जी लेता हूँ
.दिखता हूँ कंगाल , दिल में
अनमोल खज़ाना रखा है.

अंजू आर्या
आर्य समाज मार्ग, बहजोई (संभल)

कोई टिप्पणी नहीं