Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

सच्चियाय माता मंदिर पंचकुण्डी यज्ञ के साथ प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव का हुआ शुभारम्भ

संच्चियाय माता जी का भव्य वरघोडा आज,प्राण प्रतिष्ठा कल बाड़मेर/कुरजा 10 फरवरी। अखिल भारतीय मालू जैन भाईपा समाज द्वारा नवनिर्मित सच्चिय...

संच्चियाय माता जी का भव्य वरघोडा आज,प्राण प्रतिष्ठा कल
बाड़मेर/कुरजा 10 फरवरी। अखिल भारतीय मालू जैन भाईपा समाज द्वारा नवनिर्मित सच्चियाय माता मन्दिर कुरजा की प्राण प्रतिष्ठा निमित 04 दिवसीय महोत्सव का आगाज शुक्रवार को शुभ मुर्हुत में हुआ।
मालू जैन भाईपा समाज सच्चियाय माता प्रतिष्ठा महोत्सव समिति के संयोजक मांगीलाल मालू व सहप्रवक्ता गौरव मालू ने बताया कि मालू गोत्रीय कुलदेवी संच्चियाय माता मन्दिर कुरजा के चार दिवसीय प्राण प्रतिष्ठा  महोत्सव वसीमालाणी रत्नशिरोमणि ब्रह्मसर तीर्थोद्वारक उपाध्याय प्रवर मनोज्ञसागर जी म.सा. व मुनिराज नयज्ञसागर म.सा. आदि ठाणा-2 की पावन निश्रा में 12 फरवरी को पण्डित हितेश भाई के वैदिक मंत्रोचार के साथ प्रतिष्ठा सम्पन्न होगी।


ये हुए आयोजन
संच्चियाय माता मन्दिर कुर्जा में प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव के प्रथम दिन पंचकुण्डी यज्ञ के साथ हुआ आगाज।प्रवक्ता कपिल मालू ने बताया कि प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव के प्रथम दिन प्रातः शुभ मुहुर्त में प्रायष्चित विधान-पंचाग कर्म, मण्डप प्रवेश, स्थापित देवता पूजन, अग्नि स्थापना, ग्रह पूजन, कुटिर यज्ञ, ग्रह होम, धान्या दिवस, शायन पूजन व भव्य संध्या आरती का आयोजन किया गया।रात्रि में मुम्बई के सुप्रसिद्व संगीतकार नरेन्द्र वाणीगोता द्वारा भव्य भक्ति संध्या का आयोजन हुआ। भव्य संध्या आरती का आयोजन किया गया। इसी कडी में दिन में प्रवचन हाल में प्रतिष्ठा महोत्सव समिति द्वारा सुबह के नाश्ता व सुबह शाम नवकारसी के लाभार्थी परिवारो का बहुमान किया गया। इस कार्यक्रम के दौरान नगर परिषद सभापति लूणकरण बोथरा, रिखबदास मालू, मांगीलाल मालू, भगवानदास मालू, मोहनलाल मालू, जगदीश मालू, नेमीचन्द मालू, रतन मालू, कल्पेश मालू, बाबूलाल मालू आदि कई लोग उपस्थित थे।


आज ये होंगे आयोजन
प्रतिष्ठा महोत्सव समिति के सहसंयोजक दिलिप मालू ने बताया कि प्रतिष्ठा महोत्सव के द्वितीय दिन प्रातः पूजन, शोभयात्रा, शान्ति-पौष्टिक होम, अधिवास, वेदादिहोम, स्नपनप्रयोग, न्यासप्रयोग, शायन पूजन, संध्या आरती, शैयाधिवास का आयोजन होगा। इसी तरह से 12 फरवरी तीसरे दिन प्रातः पूजन, वास्तुप्रयाोग, माताजी का स्हस्त्रार्चन महापूजन, प्राण-प्रतिष्ठा, प्रतिष्ठा होम, उतरपूजन, पूर्णाहुति के बाद स्वामीवात्सल्य होगा। वही 13 फरवरी चौथे दिन प्रातः द्वार उद्घाटन व महाआरती के साथ ही महोत्सव का समापन होगा।


भव्य सजावट ओर डोम में रहेंगे आकर्षण का केन्द्र
प्रतिष्ठा को लेकर मन्दिर को भव्य रूप से सजाया गया है। मालू भाईपा समाज के अध्यक्ष हुक्मीचन्द मालू ने बताया कि मन्दिर प्रागण को रंग बिरंगी रोशनी के साथ साथ फूलो से सज्जाया गया है। मालू ने बताया कि विशेष आयोजनो को लेकर भव्य डोम बनाये गये जो आकर्षण का केन्द्र होंगे।  उन्होने बताया कि चार दिवस तक विभिन्न प्रकार से सजावट की जायेगी। प्रतिष्ठा को लेकर प्रतिष्ठा स्थल पर भोजन मण्डप,स्वागत कक्ष,प्रवचन हाल आदि कई डोम का शुभारम्भ किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं