Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

बालिका शिक्षा से ही महिला विकास संभव है:डेलू 

@ सरूपाराम प्रजापत बाड़मेर/बायतु/हीरा की ढाणी। बालिका शिक्षा से ही महिला विकास संभव है यह बात गिड़ा प्रधान लक्षमण राम डेलू ने  पश्चिम...

@ सरूपाराम प्रजापत

बाड़मेर/बायतु/हीरा की ढाणी। बालिका शिक्षा से ही महिला विकास संभव है यह बात गिड़ा प्रधान लक्षमण राम डेलू ने  पश्चिमी राजस्थान गरीबी शमन परियोजना (एमपॉवर) के साथ  सोसायटी टू अपलिफ्ट रूरल एकोनोमी (श्योर) एवं  बीसिटी के संयुक्त तत्वाधान मे आयोजित एक दिवसीय महिला सम्मेलन मे शुक्रवार को गिड़ा मे कही।
उन्होंने मुख्य अतिथि के रूप मे बोलते हुयेे कहा कि महिलाओं के हक एवं अधिकारों के साथ साथ बालिका शिक्षा, स्वास्थ्य, आजीविका के पहलुओं को भी सशक्त करने  का सराहनीय कार्य एमपॉवर संस्थाओं के द्वारा करवाया जा रहा है, जिससे बहूत बदलाव गत 6 सालों में आया है।
उन्होंने आगे कहा कि प्रत्येक ग्राम पंचायत  स्तर पर महिलाओं की बैठकों के लिए भवनों की जरूरतो को सरकार से पूरा करवाने का भरोसा दिलवाया।
एमपॉवर परियोजना के उपनिदेशक बी के द्विवेदी ने महिलाओं के द्वारा स्वयं सहायता समुहों के माध्यम से संगठित होकर आजीविका के कशीदाकारी, सेनेटरी नेपकिन, औषधीय पौधों के उत्पादों का संग्रहण करने जैसे कार्य कर अपनी आय बढ़ाने का कार्य किया जा रहा है।
कार्यक्रम मे एमपॉवर के महाप्रबंधक चुनाराम विशनोई, बी पी एम् विमल चन्द वशिस्ठ, सरपंच अमरु देवी,गिडा़ सरपच पूनमा राम चोधरी, मगनाराम सियाग, फेडरेशन की अध्यक्ष पारुदेवी, वरजू देवी, लीलादेवी ने भी सम्बोधित किया।
श्योर के परियोजना समन्वयक कानाराम प्रजापत व् बी सी टी के मेनेजर भीखाराम ने संस्थाओं के कार्यों की विस्तृत जानकारी दी।
कार्यक्रम का संचालन तारा देवी, मंजू देवी, समदा देवी व अमीना ने संयुक्त रूप से किया।
इस दौरान  हाकमसिंह, तोला राम, विरधाराम, नारायण राम,  लक्षमण राम, गौतम कुमार, सवाईराम, गिरधारीराम, भंवराराम राणा राम, राजू शर्मा, ने सहयोग किया।
सरपंच चौधरी व प्रधान ने महिलाओ से आग्रह किया कि बैटियों को पढा लिखाकर आईएएस अधिकारी बनाओ तथा परिवार के सदस्यों को शराब का नशा छोडाए।
एक दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन गिड़ा मे शुक्रवार को  किया गया जिसमे 1200 से अधिक समूह की महिलाओं ने भाग लिया। 
उक्त जानकारी श्योर के परियोजना समन्वयक कानाराम प्रजापत ने दी।

कोई टिप्पणी नहीं