Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

गौ सेवा से बढकर कोई दूसरा महान पूण्य नहीं हैःओटाराम देवासी

रिपोर्टर @ लियाकत अली बरलुट सिरोही, 5 मार्च। गोपालन राज्यमंत्री ओटाराम देवासी ने कहा कि गौ सेवा से बढकर कोई दूसरा महान पूण्य नहीं है।...

रिपोर्टर @ लियाकत अली बरलुट

सिरोही, 5 मार्च। गोपालन राज्यमंत्री ओटाराम देवासी ने कहा कि गौ सेवा से बढकर कोई दूसरा महान पूण्य नहीं है। वे आज मंडार में श्री लीलाधारी गो सेवा संस्थान ( गौ शाला ) मंडार द्धारा आयोजित कार्यक्रम में भाग लेंते हुए बोल रहें थे।
उन्होंने कहा कि महामहिमामयी गौ हमारी माता है, उनकी बडी ही महिमा है और वह सभी प्रकार से पूज्य है। उन्होंने कहा कि गौ माता की सेवा करने में ही सभी प्रकार के श्रेय एवं कल्याण है। उन्होंने कहा कि गाय के दूध, घी, दही, गोबर एवं गौ मूत्र इन पांचों को पंचगव्य कहा गया है। जिससे कि कई असाध्य रोग भी ठीक किये जा सकते है। उन्होंने कहा कि गौ माता के दर्शन, गौ की पूजा और इनकी परिक्रमा करने से सारे तीर्थो का फल मिल जाता है गाय सर्वतीर्थमयी है।
प्राचीन काल में गौ माता को कामधेनू नाम से पुकारा जाता था, जिसे कि सभी मनोकानाएं पूर्ण होती थी। उन्होंने कहा कि आज गौ माता को आवारा पशु बनाकर सडको पर विचरण के लिए छोड दिया जाता है, यह करना सही नहीं है आवारा गौ माता नहीं बल्कि उनके मालिक होते है, जो उन्हें इस हाल में विचरण के लिए छोड देते है। उन्होंने कहा कि हम सभी यह संकल्प लें कि गौ माता को आवारा नहीं छोडेंगे। 
उन्होंने गौ शालाओं के बारें में जानकारी देते हुए कहा कि अनुदान के लिए 200 गायो का होना जरूरी है, इसलिए गौ शाला वाले गायों को छोड नहीं रहें है तथा उन्होंने गौ शालाओं को दिए जाने वाले अनुदान के बारें में भी बताया । उन्होंने दिए जाने वाले राजकीय अनुदान के बारें में बताते हुए कहा कि इसके अतिरिक्त अन्य भी अनुदान की व्यवस्था करने की नई नीति बनाई गई है, जिसमें राज्य कार्मिकों से एक-एक रूपया, कृषि मंडियों, बडे मंदिरों से कुछ फीसदी राशि एकत्रित कर विभाग को सुपुद्ध की जाएगी, जिसका उपयोग भी अनुदान के लिए ही किया जाएगा। उन्हांेने गौशाला की गायों की पहचान के लिए सिंग रंग एवं कानों में ट्रेक लगाने की बात भी बताई। रेवदर के विधायक जगसीराम कोली ने 11 लाख रूपये गौ शाला के विकास के लिए देने की घोषणा की है। तथा गौ माता के महत्व को बताते हुए कहा कि भगवत गीता, रामायाण सभी ग्रथों, वेद पुराणों में गायो के महत्व को बताया गया है। उन्होंने कहा कि गौ सेवा सर्वोपरि सेवा है, हम सभी को इस पून्य कार्य में जुडकर सेवा का लाभ लेना चाहिए। इस अवसर पर छोगाराम महाराज सीमा वल्लभ राजाराम गौ शाला टीटोडा, हनुमान महाराज पथमेडा, कांतिदास महाराज सीताराम कुटियां एवं अन्य जन सांधू संतो सहित असंख्या में गौ भक्त मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं