Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

दांतराई। विवादों के बीच अटका निर्माण कार्य, दो साल से अधुरा पड़ा एमआई टेंक

@ प्रवीण राजपुरोहित सिरोही/दांतराई। मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन योजना के तहत प्रदेशभर में तालाब पुनरुत्थान को लेकर सरकार वाहवाही लूटने ...

@ प्रवीण राजपुरोहित

सिरोही/दांतराई। मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन योजना के तहत प्रदेशभर में तालाब पुनरुत्थान को लेकर सरकार वाहवाही लूटने में लगी हुई है, लेकिन धरातल पर हकीकत इससे कोसों दूर है। ग्रामीण क्षेत्रों में जल संरक्षण के लिए प्रदेश सरकार के चलाए जा रही मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन योजना में ढिलाई बरती जा रही है।  
जीरावल ग्राम पंचायत के हरणी अमरापुरा गाँव में बन रहा एम आई टेंक विवाद के चलते बीच राह में ही अटक गया हैं। टेंक निर्माण का कार्य 4 जुलाई 2015 को शुरु किया गया था लेकिन आज दिन तक कार्य पुरा नही हो पाया हैं। टेंक का  निर्माण कार्य गुजरात कंस्ट्रक्शन कम्पनी मेहसाणा को ठेके पर दिया गया था, लेकिन टेंक निर्माण अधर जूल में लटकता दिखाई दे रहा हैं, ऎसे में अब इसे ठेकेदार की लापरवाही सझया जाए या भाजपा सरकार की अनदेखी। मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन का मुख्य उद्देश्य था की गांवों में वर्षा का पानी बहकर बाहर जाने की बजाय गांवों के ही निवासियों, पशुओं और खेतों के काम आए ओर इसी सोच के साथ  ‘मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान’ की शुरुआत की गई। बारिश के पानी की एक-एक बूंद को सहेजकर गांवों को जल आत्मनिर्भरता की ओर बढा़ना इस अभियान का मूल उद्देश्य था लेकिन योजना के आधे अधुरे टेंक निर्माण से यह योजना दम तोडती नजर आ रही हैं।

विवाद के बीच अटका एमआई टेंक का कार्य
हरणी अमरापुरा गाँव में मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन के तहत बनने वाला एमआई टेंक पिछले दो साल से विवाद के चलते कार्य अधुरा पडा हुआ हे जिसके कारण किसानों को इसमें जमा होने वाले पानी का लाभ नही मिल पा रहा हे पिछले साल बारिश होने पर भी इसमें पानी जमा नही हो पाया था जिसके कारण किसानों को टेंक का कोई फायदा नही मिला था। जानकारी के अनुसार आनन फानन में काश्तकारो की सहमति लिये बिना ही निर्माण शुरू कर दिया गया जो पूर्णतया गलत खसरा नम्बर में हुआ है।  जिस स्थान पर एमआई टेंक का निर्माण होना था वहाँ न होकर अन्य जगह पर निर्माण किया जा रहा था जिसको लेकर भुमी मालिक ने कार्ट से स्टे लाकर कार्य को रूकवा दिया था। जिसके कारण कार्य पुर्ण नहीं हो पाया हैं ऎसे में ठेकेदार की लापरवाही व सरकार की अनदेखी के कारण इसका खामियाजा ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा हैं । ऎसे में अगर निर्माण कार्य पुरा नही हो पाता तो किसानों के सपनो पर फिरता नजर आ रहा हैं।
बोर्ड पर दर्शाई गलत जानकारी
हरणी अमरापुरा गाँव में बन रहे एम आई टेंक विवादों के बीच पिछले दो सालों से कार्य भले ही बन्द पडा हो लेकिन वहां लगा सुचना बोर्ड आज भी अधिकारियों व ग्रामीणों को भ्रमित कर रहा हैं। बोर्ड पर दर्शाया गया हर की टेंक का कार्य 4 जुलाई 2015 को कार्य तो शुरु कर दिया गया लेकिन कार्य आज तक अधुरा पडा हुआ हैं। जबकि सुचना बोर्ड पर कार्य पुर्ण की दिनांक 3 अक्टूबर 2016 की दर्शाई गई हे जबकि आज भी कार्य आधा अधुरा पडा हुआ हैं। टेंक निर्माण को लेकर राशि भी जरूर स्वीकृत हुई होगी लेकिन बोर्ड पर कोई राशि नही दर्शाई गई हैं।

इनका कहना 
एक खसरा नम्बर रह गया था जिसको हमने अभी एक्वायर किया हैं इस सप्ताह में शुरू कर दिया जाएगा। 
-बी आर सेनी, जल संसाधन सिरोही। 

अगर एम आई टेंक अधुरा पड़ा हैं तो जांच करवाता हूँ। 
-अभिमन्यु कुमार,जिला कलेक्टर सिरोही।

कोई टिप्पणी नहीं