Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

जनता की भावना के अनुरूप हो विकास योजनाओं की क्रियान्वितिःगोयल

गर्मी के मौसम में बिजली,पानी एवं चिकित्सा व्यवस्था की नियमित मोनेटरिंग करने के निर्देश। बाड़मेर, 13 अप्रैल। जनता की भावना के अनुरूप विक...

गर्मी के मौसम में बिजली,पानी एवं चिकित्सा व्यवस्था की नियमित मोनेटरिंग करने के निर्देश।
बाड़मेर, 13 अप्रैल। जनता की भावना के अनुरूप विकास योजनाओं की क्रियान्विति सुनिश्चित की जाए। जन प्रतिनिधियों से भी समय-समय पर फीडबैक लेते हुए राज्य सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं से अधिकाधिक लोगों को लाभांवित किया जाए। गर्मी के मौसम के दौरान बिजली, पानी एवं चिकित्सा व्यवस्था की नियमित मोनेटरिंग करते हुए किसी भी तरह की समस्या आने पर तत्काल समाधान किया जाए। बाड़मेर जिले के प्रभारी मंत्री एवं जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री सुरेन्द्र गोयल ने गुरूवार को कलेक्ट्रेट सभागार में विकास योजनाओं की समीक्षा बैठक के दौरान यह बात कही।
इस अवसर पर प्रभारी मंत्री सुरेन्द्र गोयल ने कहा कि गर्मी के मौसम को देखते हुए जलदाय विभाग समय पर जिले के समस्त स्थानों पर पेयजल उपलब्ध कराने के कार्य को प्राथमिकता दें। उन्होंने कहा कि जहां टैंकर से पानी पहुंचाने की आवश्यकता हो, वहां टैंकरों से जलापूर्ति सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि खराब हैंडपंप समय पर दुरस्त करवाए जाए। उन्होंने क्षेत्रीय जल प्रदाय योजनाओं की प्रगति की समीक्षा करते हुए अपूर्ण कार्यो को समय पर पूर्ण कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि फ्लैगशिप योजनाओं में निर्धारित समय पर लक्ष्य की पूर्ति कर पात्र लोगों को लाभान्वित किया जाए। उन्होंने मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान के द्वितीय चरण में चयनित सभी जल संरक्षण कार्यो को समय पर पूर्ण करने पर विशेष जोर दिया। उन्होंने जन प्रतिनिधियों से स्वच्छ भारत मिशन में सक्रिय भागीदारी निभाने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी नरेगा योजनान्तर्गत प्रत्येक राजस्व गांव में पर्याप्त मात्रा में कार्य स्वीकृत करने के साथ स्थाई परिसंपतियों का सृजन किया जाए। उन्होंने महात्मा गांधी नरेगा योजना में स्थानीय जरूरतों के मुताबिक पुलिया एवं रपट निर्माण करवाने के भी निर्देश दिए। समीक्षा बैठक के दौरान प्रभारी मंत्री गोयल ने राज्य सरकार की फ्लैगशिप योजनाओं, मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान, भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना, स्वच्छ भारत मिशन एवं ग्रामीण विकास की योजनाओं की विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने सार्वजनिक निर्माण विभाग, चिकित्सा स्वास्थ्य, रसद विभाग, डिस्कॅाम सहित विभिन्न विभाग की प्रगति की समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। प्रभारी मंत्री गोयल ने पेयजल परियोजनाओं की क्रियान्विति में लापरवाही बरतने वाली फर्माें को नोटिस देने के निर्देश दिए।
बैठक के दौरान बायतू विधायक कैलाश चौधरी ने कहा कि बायतू विधानसभा क्षेत्र के कई गांवों में जलापूर्ति नहीं हो रही है। उन्होंने कहा कि जलदाय विभाग के अधिकारी नियमित रूप से निरीक्षण कर पेयजल परियोजनाओं की मोनेटरिंग करें। उन्होंने हैडपंप निर्माण के लिए जमीन एवं रास्ते की शर्त की वजह से कार्य नहीं होने का मामला उठाया। विधायक चौैधरी ने कहा कि घरों में बने टांकों को भी छत से जोड़ने का कार्य किया जाए।
चौैहटन विधायक तरूणराय कागा ने चौैहटन क्षेत्र के दूरस्थ इलाकों में जलापूर्ति नहीं होने, नमक क्षेत्र को विकसित करवाने, मनरेगा में बेरियों की स्वीकृति करवाने की बात कही। उन्होंने कहा कि जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियंता कार्यालय को बाड़मेर के बजाय चौहटन में संचालित किया जाए। कागा ने कहा कि मीठे का तला स्कीम लंबे समय से बाधित है। उन्होंने पाक विस्थापितों को सरकारी योजनाओं से लाभांवित करवाने का मामला भी उठाया। बाड़मेर विधायक मेवाराम जैन ने बाड़मेर शहर की कई बस्तियों में पाइप लाइन नहीं होने, खराब हैंडपंपों को दुरस्त करवाने का मामला उठाया। उन्होंने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को हटाने के मामले में जांच करवाने की बात कही। राजस्थान उर्दू अकादमी के चैयरमैन असरफ अली ने ग्रामीण इलाकों के चिकित्सालयों में चिकित्साकर्मियों एवं विद्यालयों में शिक्षकों के उपस्थित नहीं रहने का मामला उठाया। उन्होंने बताया कि सीमावर्ती इलाकों में कई स्कूलों में लंबे समय तक ताले लगे रहते है। उन्होंने कहा कि सीमावर्ती इलाकों में जलापूर्ति नहीं होने से लोगों को बेहद परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस अवसर पर जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने जिले में संचालित विकास योजनाओं एवं कार्यक्रमों की प्रगति की जानकारी दी। उन्होंने बैठक में दिए गए दिशा-निर्देशों की पालना सुनिश्चित करवाने का भरोसा दिलाया।
समीक्षा बैठक के दौरान बायतू विधायक कैलाश चौैधरी, चौैहटन विधायक तरूणराय कागा, बाड़मेर विधायक मेवाराम जैन, राजस्थान उदू अकादमी के चैयरमैन असरफ अली के साथ विभिन्न जन प्रतिनिधियों ने बाड़मेर-चौैहटन मार्ग पर संचालित रोडवेज बसों को शहर में आवाजाही की अनुमति देने का मामला उठाया। उन्होंने कहा कि रोडवेज बसो को शहर में प्रवेश नहीं देने से आमजन को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इस पर प्रभारी मंत्री गोयल ने जन प्रतिनिधियों की मांग एवं आमजन की सहुलियत के मददेनजर शहर में रोडवेज बसों के प्रवेश की अनुमति देने के निर्देश दिए।
बैठक में गडरारोड़ प्रधान तेजाराम ने बेरियों में पंप लगाकर जलापूर्ति करवाने का सुझाव दिया। वहीं सिवाना प्रधान श्रीमती गरिमा राजपुरोहित ने मोकलसर में ग्राम पंचायत ओडीएफ घोषित होने के बावजूद शौचालय निर्माण नहीं होने एवं भुगतान उठाने तथा चिकित्साकर्मियों के मुख्यालय पर नहीं रहने का मामला उठाया। कल्याणपुर पंचायत समिति के प्रधान हरिसिंह ने कहा कि डोली अराबा में एंटी मलेरिया एक्टिविटी गतिविधियां संचालित की जाए। बैठक के दौरान प्रभारी मंत्री गोयल ने भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत समस्त प्रकरणों की जांच करवाने के निर्देश दिए कि वास्तविक रूप से संबंधित लोगों को इस योजना का लाभ पहुंचा अथवा नहीं। इस अवसर पर जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने कहा कि शुक्रवार को ग्राम पंचायतों में पटटा वितरण अभियान प्रारंभ हो रहा है। इसके तहत आबादी भूमि में बसे लोगों को पटटे जारी किए जाएंगे। यह अभियान आगामी 12 जुलाई तक चलेगा। इस दौरान मनरेगा के अतिरिक्त जिला कार्यक्रम समन्वयक सुरेश कुमार दाधीच ने बताया कि जिले में मौजूदा समय में 82 हजार श्रमिक नियोजित है। साथ ही पर्याप्त मात्रा में कार्य स्वीकृत किए गए है। समीक्षा बैठक के दौरान सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता जी.आर.जीनगर ने बताया कि गौरव पथ एवं मीसिंग लिंक के प्रस्ताव तैयार किए जा रहे है। समीक्षा बैठक के दौरान उप वन संरक्षण लक्ष्मणलाल, अतिरिक्त जिला कार्यक्रम समन्वयक सुरेश कुमार दाधीच, कोषाधिकारी दिनेश बारहठ, उप पंजीयक जितेन्द्र गोदारा, जिला रसद अधिकारी कंवराराम चैधरी, डिस्काम के जी.आर.सिरवी, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के नेमाराम परिहार, आईडब्ल्यूएमपी के बलवीरसिंह समेत विभिन्न विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं