Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

हुकम सिंह अजीत ने की विधानसभा नेता प्रतिपक्ष डूडी से मुलाक़ात

@ सुनील दवे बाड़मेर/समदड़ी। जयपुर प्रवास के दौरान कांग्रेस सेवादल के प्रदेश संगठन मंत्री हुकम सिंह अजीत ने  प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सच...

@ सुनील दवे

बाड़मेर/समदड़ी। जयपुर प्रवास के दौरान कांग्रेस सेवादल के प्रदेश संगठन मंत्री हुकम सिंह अजीत ने  प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव करण सिंह उचियारड़ा व युवा कांग्रेस प्रदेश महासचिव सतपाल देवासी के साथ विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी से मुलाक़ात कर क्षैत्र की समस्याओं को रखा तथा विकास के मामलों में कुम्भकर्णी नींद में सो रही राज्य सरकार का सदन में ध्यान आकर्षण करने का निवेदन किया।
अजीत ने बताया की भीषण गर्मी में ग्रामीण क्षैत्रों में पेयजल की भारी किल्लत से ग्रामीणों व्याप्त भारी रोष है समय पर पेयजल आपूर्ति नहीं होने से सुदूर क्षैत्रों व ढाणियों में निवास करने वाले ग्रामीणों को समस्याओं को सामना करना पड़ रहा है। पानी की होदीयाँ और जलकुण्ड सूख रहे है पशुधन प्यासा मर रहा है ग्रामीण पेयजल खरीदने को मजबूर हो रहे है। 
पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार द्वारा राजीव ग़ांधी कुटीर ज्योति योजना से लाभान्वित ढाणियाँ आज रौशनी से जगमगा रही है द्वितीय चरण की चयनित ढाणियों के वाशिंदे आज भी अँधेरे में निवास कर रहे है अध्ययनरत बच्चे पढ़ाई से आज भी वंचित हो जो की सरासर मानवाधिकारों का हनन है। इस भीषण गर्मी में गाँवों और कस्बों नियमित बिजली आपूर्ति नहीं करना और रखरखाव के नाम पर बहानेबाजी कर बिजली कटौती सरकार की नाकामियों को प्रदर्शित करती है।
ग्रामीण क्षैत्र में सड़कों की स्थिति बुरी है नई सड़को की स्वीकृति तो छोड़ो सरकार द्वारा टूटी हुई सड़कों के रखरखाव के लिए बजट जारी नहीं किया जा रहा है।
ओलावृष्टि और बेमौसम बारिश से रबी के फसलों के हुए नुकसान से किसान वर्ग दुःखी है सरकार द्वारा किसानों को ऋण माफ़ी अथवा बिजली माफ़ी कर राहत देना तो दूर की बात ऋण वसूली के लिए जिस तरीके से अन्नदाताओं को प्रताड़ित किया जा रहा है।
नवसृजित ग्राम पंचायत मुख्यालय पर माध्यमिक विधायलय क्रमोन्नत नहीं हुए है और ना बालिका शिक्षा के प्रोत्साहन के लिए कोई योजना बना पाए है । समायोजन के नाम पर विद्यालय बंद कर गरीब परिवारो के बच्चों को पढ़ाई से वचिंत करने की साजिश रच रही है। आगनवाड़ी केंद्रों पर पाठशालाओं को खोलकर सराहनीय कार्य कर रही है लेकिन उन पाठशालाओं पर प्रशिक्षित शिक्षिका की नियुक्ति न कर मात्र आठवी उत्तीर्ण महिलाओं पर पढ़ाने की जिम्मेदारी डालना सरकार का गैर जिम्मेदाराना रवैया प्रदर्शित होता है।
ग्रामीण क्षैत्रों में हजारो की तादाद में योग्य परिवारो को खादय् सुरक्षा से वंचित कर दिया गया है पोपोबाई के राज में कोई सुनने वाला नहीं आम आदमी अपनी फ़रियाद लेकर जाए तो कहा जाए। 
जनता आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा सरकार को बेदखल कर ही अपने आक्रोश को व्यक्त करेगी।

कोई टिप्पणी नहीं