Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

संस्कारयुक्त शिक्षा के बिना जीवन व्यर्थ:पायल परसरामपुरिया

@ लियाकत अली बरलूट सिरोही। संस्कार युक्त शिक्षा के बिना जीवन पशुवत है सभ्य समाज की नींव संस्कार युक्त शिक्षा पर ही रखी जाती है यह कह...

@ लियाकत अली बरलूट
सिरोही। संस्कार युक्त शिक्षा के बिना जीवन पशुवत है सभ्य समाज की नींव संस्कार युक्त शिक्षा पर ही रखी जाती है यह कहना है सिरोही जिला प्रमुख पायल परसरामपुरिया का। वे बाल संस्कार विद्या मंदिर मंडवारिया द्वारा आयोजित वार्षिकोत्सव में बतौर मुख्यातिथि के रूप में सम्बोदित कर रही थी। उन्होंने कहा कि वो शिक्षा व्यर्थ है जो यह नहीं शिखाती की देश सर्वोपरि है ।
कार्यक्रम में विशिष्ठ अतिथि आहोर विद्यायक शंकर सिंह राजपुरोहित ने कहा कि भारत की धरा ऋषि मुनियों और संतो की तपोभूमि है, भारत का इतिहास, त्याग, तपस्या, व समर्पण का रहा है । उन्होंने रानी पदमणी का जिक्र करते हुए कहा कि भारत का युवा इतिहास से खिलवाड़ को बर्दाश्त नहीं करेगा क्योकि भारत का स्वर्णमयी इतिहास ही युवाओं का मार्ग प्रशस्त करता है ।

वही कार्यक्रम में उपस्तिथ तीर्थ गिरीजी महाराज ने कहा कि ऋषि मुनियों की इस धरती पर समय समय पर कई वीरो ने जन्म लिया है और राष्ट्र के लिए अपना सर्वस्व बलिदान कर दिया साथ ही महाराणा प्रताप व हाडा रानी का उदाहरण दिया ।
विशिष्ठ अतिथि मालाराम पुरोहित व जिलाअध्यक्ष लुम्बाराम ने भी अपने विचार व्यक्त किए।  
संस्था प्रधान कांतिलाल पुरोहित ने विद्यायल का वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए बताया कि इस विद्यायल परिवार द्वारा समय समय पर विद्यायल परिसर में मातृ सम्मलेन, वार्षिकोत्सव, प्राणायाम, पढ़ाई को लेकर भैया बहिनो के अभिभावकों से संपर्क किया जाता है साथ ही खेल में भी रूचि दिखाई जाती है

कार्यक्रम की अध्यक्षता स्थानीय सरपंच दलपत भाई पुरोहित ने की।
कार्यक्रम में "मेवाड़ के वीर"नाटिका आकर्षण का केन्द्र रही।स्वच्छ्ता का सन्देश देते हुए गीत "मोदीजी की लहर"पर दर्शक झूम उठे।  इससे पूर्व भगवान श्री राम के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन कर कार्यक्रम की शुरुआत की।  कार्यक्रम में थानाधिकारी पुराराम,मण्डल अध्यक्ष छगन घांची, डूंगर सिंह जावाल, करणसिंह कालन्द्री, गमनाराम नवारा, पेकाराम, कमलेश बावली, सुखदेव चारण, रमेश प्रजापत बरलूट, नारायणसिंह देलदर व विद्या मंदिर के समस्त आचार्य और आचार्याओ सहित सैकड़ों की संख्या में लोग उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं