Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

सरहदी इलाकों में आधारभूत सुविधाएं विकसित करवाएंःठाकुर

प्रभारी सचिव राजीवसिंह ठाकुर ने सौर एवं पवन ऊर्जा से विद्युत उत्पादन की संभावना तलाशने के निर्देश दिए। बाड़मेर, 07 अप्रैल। सीमांत क्षेत्...

प्रभारी सचिव राजीवसिंह ठाकुर ने सौर एवं पवन ऊर्जा से विद्युत उत्पादन की संभावना तलाशने के निर्देश दिए।
बाड़मेर, 07 अप्रैल। सीमांत क्षेत्र विकास कार्यक्रम के तहत सरहदी इलाकों में आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाने की दिशा में काम किया जाए। ग्रामीण खेल प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करने के लिए खेल सुविधाएं मुहैया कराई जाए। ग्रामीण विकास विभाग के शासन सचिव एवं जिले के प्रभारी सचिव राजीव सिंह ठाकुर ने शुक्रवार को बाड़मेर जिला मुख्यालय पर विकास योजनाओं, कार्यक्रमों एवं विभागीय गतिविधियों की प्रगति संबंधित समीक्षा बैठक के दौरान यह बात कही।
प्रभारी सचिव राजीव सिंह ठाकुर ने कहा कि जिले में सौर एवं पवन ऊर्जा के जरिए विद्युत उत्पादन की संभावना तलाशी जाए। उन्होंने मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत प्रगतिरत कार्याें की जानकारी लेते हुए मई माह तक समस्त कार्य पूर्ण करवाने के निर्देश दिए। प्रभारी सचिव ने कहा कि ग्रामीण इलाकों में चिकित्सकीय स्टाफ की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए उपखंड अधिकारियों को भी आकस्मिक निरीक्षण करने के लिए निर्देशित किया जाए।
उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी हेमराज सोनी को पानी के टांकों में दवा डालने के निर्देश दिए। प्रभारी सचिव ने जिले में बिजली, पानी की आपूर्ति, पंडित दीनदयाल विद्युतीकरण योजना, भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना, मेडिकल कालेज की प्रगति, ग्रामीण गौरव पथ, चिकित्सकों की पद रिक्तता के बारे में भी विभागीय अधिकारियों से जानकारी ली। बैठक में जिला कलक्टर सुधीर शर्मा, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा, जिला उप वन संरक्षण लक्ष्मणलाल, सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के सहायक निदेशक प्रदीप चौधरी, अधीक्षण अभियंता जी.आर.जीनगर, जी.आर.सिरवी, नेमाराम परिहार, अधिशाषी अभियंता मनरेगा कबीर अख्तर समेत विभिन्न विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।
बैठक के दौरान प्रभारी सचिव ठाकुर ने सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारियों को सोडियार ग्राम पंचायत में क्षतिग्रस्त सड़क पर हादसे की आशंका जताते हुए मरम्मत करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने वन विभाग एवं सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारियों को मनरेगा के तहत कार्यकारी एजेंसी बनकर विकास कार्य करवाने को कहा। उन्होंने कहा कि पानी के अवैध कनेक्शन करने वालों के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज करवाकर इसका प्रसार-प्रसार करवाया जाए। उन्होंने आगामी गर्मी के मौसम में जलापूर्ति करने वाले टैंकरों की जीयो टेगिंग करने के निर्देश दिए। इस दौरान जिले में प्रगतिरत पेयजल परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए गए।

कोई टिप्पणी नहीं