Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

पुणे सैन मंदिर की प्राण - प्रतिष्ठा से पहले स्नेह मिलन समारोह संपन्न हुआ।

पुणे सैन मंदिर की प्राण - प्रतिष्ठा से पहले स्नेह मिलन समारोह संपन्न हुआ। महाराष्ट्र/पुणे। महानगर में सैन समाज के आराध...

पुणे सैन मंदिर की प्राण - प्रतिष्ठा से पहले स्नेह मिलन समारोह संपन्न हुआ।
महाराष्ट्र/पुणे। महानगर में सैन समाज के आराध्य देव संत शिरोमणि श्री सैनजी महाराज के नवनिर्मित मंदिर में आगामी दिनों में अन्य देवी - देवताओं के साथ गुरु महाराज सैन जी महाराज की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा की जायेगी। इस कार्यक्रम के लिए पुणे महानगर में सैन मंदिर प्रतिष्ठा से पहले सैनाचार्य स्वामी अचलानंद गिरी महाराज के सानिध्य में 16 ओर 17 नवंबर को दो दिवसीय स्नेह मिलन के साथ - साथ चढ़ावे की बोलियों के लिए समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर सैनाचार्य अचलानंद गिरी महाराज और समाज के भामाशाह मौजूद थे।
इस दो दिवसीय कार्यक्रम में भजन संध्या और कई सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित हुये। इस दौरान सिरोही से पधारे भजन गायक राजेश सैन एंड पार्टी द्वारा सुमधुर भजनों की प्रस्तुति दी गई। 
समारोह के मुख्य अतिथि सैनाचार्य स्वामी अचलानंद गिरी महाराज, पीठाधीश्वर अखिल भारतीय सैन भक्ति पीठ जोधपुर थे। इस अवसर पर उन्होंने समाज की एकता और उत्थान के लिये भामाशाहों से आगे आने का आह्वान किया।
कार्यक्रम के दौरान प्राण - प्रतिष्ठा के अवसर पर मंदिर में स्थापित होने वाली मूर्तियों ओर विभिन्न चढ़ावों की बोलियां बोली गई जिसमें भाग्यशाली भामाशाहों द्वारा इस पुनीत कार्य को प्राप्त कर इस शुभ कार्य के विकास की ओर गति प्रदान करने में सहयोग किया।
दो दिवसीय स्नेह मिलन समारोह में संस्था के पदाधिकारियों की ओर से भामाशाहों का साफा और माला पहनाकर स्वागत किया गया। भामाशाहों ने भी मंदिर प्राण प्रतिष्ठा में हरसंभव सहयोग की घोषणा की। इस दो दिवसीय आयोजन में श्री राजस्थानी सैन सेवा मंडल पुणे के आधारस्तंभ भागीरथ टांक और कालू महाराज, पदाधिकारी अध्यक्ष चेनाराम टांक, उपाध्यक्ष जोगाराम राठौड़, उपाध्यक्ष नरेन्द्र फुलडालिया, कोषाध्यक्ष राजू बणवीर, सेकेट्री चुन्नीलाल सैन, डिप्टी सेकेट्री श्रवण मुकूंदगडीया, उप कोषाध्यक्ष राधाकृष्ण तंवर, कार्यध्यक्ष ठाकराराम सोंलकी, उप कार्यअध्यक्ष दिनेश टांक, सेकेट्री नंदकिशोर सुरग, कार्यप्रमुख राजू राठोड़, ट्रस्टी पन्नालाल सैन, जवाहरलाल भाटी, बाबु लाल भाटी, मुकेश कुमार टांक, महेन्द्रलाल सैन, नेनाराम जयपाल, हनुमानलाल सांखला, डायाराम राठौड़, अशोक कुमार परमार, कालूराम भाटी, गोविंदलाल चौहान, सोहनलाल सोनीवाल, चम्पालाल जयपाल, जिवाराम खवास, महेश कुमार, जैसाराम भाटी, मदन सोलिवाल जोधपुर, ओमप्रकाश भाटी उतरणी, खरथाराम परिहार पनावड़ा सहित देश के विभिन्न इलाकों से सैन समाज के भामाशाह और गणमान्य लोग शामिल हुये।

कोई टिप्पणी नहीं