Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

बाड़मेर, कुशल वाटिका मेले में उमड़े श्रद्वालु, सप्तम वर्षगांठ 27 जनवरी को।

बाड़मेर, कुशल वाटिका मेले में उमड़े श्रद्वालु, सप्तम वर्षगांठ 27 जनवरी को। कुशल वाटिका ट्रस्ट की बैठक सम्पन्न बाडमेर। अहमदाबा...

बाड़मेर, कुशल वाटिका मेले में उमड़े श्रद्वालु, सप्तम वर्षगांठ 27 जनवरी को।

कुशल वाटिका ट्रस्ट की बैठक सम्पन्न
बाडमेर। अहमदाबाद रोड़ पर स्थित कुशल वाटिका में विश्व के द्वितीय राजहंस मन्दिर में शनिवार को मेले में श्रद्वा का सैलाब उमड़ पड़ा। कुशल वाटिका ट्रस्ट के बाबूलाल टी बोथरा ने बताया कि बाड़मेर शहर के समीप कुशल वाटिका प्रांगण में मेले का आयोजन हुआ। जिसमें बाडमेर, गुजरात सहित आस - पास के अन्य गांवों से सैकड़ो जैन बन्धुओं ने पहुंच कर पूजा अर्चना की। जहां कुशल वाटिका में विराजमान मूलनायक मुनिसुव्रत स्वामी भगवान मन्दिर, दादावाड़ी नवग्रह मन्दिर, गुरू मन्दिर, देवी - देवताओ के आदि मन्दिरो के दर्शन पूजा आदि की गई।
बोथरा ने बताया कि शनिवार को कुशल वाटिका में प्रातः 6 बजे से भक्तो का दर्शन व पूजा के लिए आना - जाना शुरू हो गया और अहमदाबाद गुजरात से आए सैकड़ों भक्त केशर पूजा कर आनन्द महसुस कर रहे थे, जो पुरे दिन मेले सा माहौल बना रहा, ओर हर शनिवार को हजारो भक्त दर्शन कर खुशहाली की कामना करते है। जहां कुशल वाटिका की और से प्रसादी की व्यवस्था की गई। कुशल वाटिका शनिवार मेले में द्वारकादास डोसी, शंकरलाल धारीवाल, रतनलाल संखलेचा, कैलाश कोटड़िया, कैलाश धारीवाल, पारसमल धारीवाल, पार्षद महावीर बोहरा, रमेश आचार्य, चम्पालाल बोथरा,  चंद्रप्रकाश बोथरा, नरेश लूणिया, पत्रकार अशोक राजपुरोहित, लालचंद टिकड़ी, सम्पतराज छाजेड़, सम्पतराज मेहता, राजू मालू, प्रकाश लूणिया, कपिल धारीवाल, बाबूलाल बोथरा, अशोक सेठिया, सम्पतराज श्रीश्रीमाल, हरिराम छाजेड़, कपिल मालू, प्रकाश विश्नोई, हितेश डूंगरवाल, पवन पटूड़ा, राणूलाल खत्री, मुकेश छाजेड़, सुरेश नाहटा, पारसमल भंसाली, अखिल भारतीय खरतरगच्छ युवा परिषद शाखा बाड़मेर व कुशल वाटिका मित्र मण्डल व ट्रस्ट मण्डल सहित कई भक्तगण उपस्थित थे।

कुशल वाटिका ट्रस्ट की बैठक सम्पन्न।
शनिवार को कुशल वाटिका में कुशल वाटिका ट्रस्ट की बैठक द्वारकादास डोसी की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। कुशल वाटिका ट्रस्ट के केवलचन्द छाजेड़ ने बताया कि आगामी 27 जनवरी को होने वाली कुशल वाटिका की सप्तम वर्षगांठ की तैयारियो को बैठक रखी गई, जिसमें 27 जनवरी को सप्तम वर्षगांठ को बड़े धूम - धाम से मनाने का निर्णय लिया गया। सप्तम वर्षगांठ पर कुशल वाटिका मन्दिरों में अठठारह अभिषेक, सतरभेदी पूजा व 10 बजे मन्दिरों के शिखर पर ध्वजारोहण का कार्यक्रम आयोजित होगा। वर्षगांठ को लेकर विभिन्न कमेटिया बनाकर काम सौपा जायेगा। इस बैठक में द्वारकादास डोसी, बाबूलाल बोथरा, भंवरलाल सेठिया, रतनलाल वडेरा, चम्पालाल छाजेड़, कैलाश कोटड़िया, जगदीशचन्द बोथरा, केवलचन्द छाजेड़ उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं