Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

टिड्डी के खराबे का किसानों को तीन दिन में मुआवजा : चौधरी

टिड्डी के खराबे का किसानों को तीन दिन में मुआवजा : चौधरी बाड़मेर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार सायं टिड्डी नियन्त्रण तथा विशेष ग...

टिड्डी के खराबे का किसानों को तीन दिन में मुआवजा : चौधरी
बाड़मेर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार सायं टिड्डी नियन्त्रण तथा विशेष गिरदावरी के कार्य की वीसी के जरिए विस्तृत समीक्षा की। बाड़मेर जिला मुख्यालय पर राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने बाड़मेर तथा जैसलमेर जिलों में अब तक किये गयें टिड्डी नियन्त्रण कार्याें की जानकारी दी।
इस मौके पर राजस्व मंत्री चौधरी ने बताया कि तीन हजार किलोमीटर क्षेत्र में टिड्डी नियन्त्रण का कार्य किया गया है। जो कि आज दिन तक एक इतिहास है। उन्होंने बताया कि बाड़मेर तथा जैसलमेर जिलों में टिड्डी नियन्त्रण के लिए कृषि विभाग युद्ध स्तर पर कार्य कर रहा है तथा वे स्वयं प्रतिदिन रात्रिकाल में प्रभावित क्षेत्रों में मौजूद रह कर टिड्डी नियन्त्रण कार्य की मोनीटरिग कर रहे है। उन्होने बताया कि 90 प्रतिशत टिड्डी नियन्त्रण का कार्य राज्य सरकार द्वारा किया गया है। उन्होने बताया कि बाड़मेर तथा जैसलमेर जिलों में टिड्डी हमले से हुए खराबे की विशेष गिरदावरी का कार्य कर लिया गया है तथा तीन दिन में किसानों के खाते में मुआवजे की राशि जमा कर दी जाएगी। उन्होने बताया कि हाल ही में सेड़वा तथा चौहटन क्षेत्र में दुबारा टिड्डी के बड़े हमले से प्रभावित खराबे का एक सप्ताह में आकलन कर इसकी भी रिर्पोट प्रेषित कर दी जाएगी। इस दौरान जिला कलक्टर अंशदीप ने विशेष गिरदावरी के कार्य तथा डाटा फीडिग कार्य की जानकारी दी। वीसी में अतिरिक्त जिला कलक्टर राकेश कुमार शर्मा, उपखण्ड अधिकारी नीरज मिश्रा, कृषि उप निदेशक किशोरीलाल वर्मा भी मौजूद थे।
बाद में कलेक्ट्रेट में पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए राजस्व मंत्री चौधरी ने बताया कि बाड़मेर तथा जैसलमेर जिलों में टिड्डी नियन्त्रण का कार्य राज्य सरकार ने युद्ध स्तर पर किया तथा किसानों को स्वयं अपने स्तर पर दवाई छिड़कने पर राज्य सरकार द्वारा शत प्रतिशत अनुदान दिया जा रहा है। उन्होने ने बताया कि देश के इतिहास में आज दिन तक ऐसा टिड्डी का हमला नही हुआ। लेकिन इसके बावजुद राज्य सरकार ने मुस्तैदी से कार्य करते हुए टिड्डी नियन्त्रण का कार्य किया। उन्होंने बताया कि बाड़मेर जिले में 30 हजार हैक्टयर तथा जैसलमेर जिले में 55 हजार हैक्टयर क्षेत्र में टिड्डी हमले से खराबा हुआ तथा शेष फसल को बचा लिया गया है। उन्होने बताया कि सरकार फसल बीमा कम्पनी से बात कर 25 प्रतिशत तात्कालिक सहायता उपल्बध करा रही है। उन्होने कहा कि बाड़मेर जिले  में टिड्डी दल के हमले से फसलों में नुकसान हुआ है। स्वयं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बाड़मेर तथा जैसलमेर जिलों में किसानों के खेतों मे पहुचकर खराबें का जायजा लिया तथा टिड्डी नियन्त्रण कार्यो की समीक्षा की। उन्होने बताया कि आमतौर पर रबी की गिरदावरी मार्च अथवा अप्रैल माह में होती है। लेकिन इस बार किसानों को राहत पहुंचाने के लिए विशेष गिरदावरी करवाई गई है तथा तीन दिन में खराबे का मुआवजा किसानो के खातों में जमा करा दिया जाएगा। वे स्वयं पिछले 15 दिनों से बाड़मेर तथा जैसलमेर जिलों में फसलों में हुए नुकसान का खेतों में पहुंचकर जायजा ले रहे है तथा किसानों से रूबरू होकर हालात जाने है। किसानों ने जीरा, इसबगोल एवं अरंडी की फसलों मेें हुए नुकसान के बारे में अवगत कराया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार आमजन के कल्याण के लिए तत्पर है। अकाल से प्रभावित गांवों में पिछले दिनों केन्द्रीय दल दौरा कर चुका है। केन्द्र सरकार से राहत दिलाने का अनुरोध किया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं