Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

समदड़ी, सड़लानाडा धाम पर चतुर्थ वार्षिक महोत्सव 21 को।

स मदड़ी, सड़लानाडा धाम पर चतुर्थ वार्षिक महोत्सव 21 को। - साधू-संतों के सानिध्य में संपन्न होंगे कई धार्मिक अनुष्ठान। - महोत...

मदड़ी, सड़लानाडा धाम पर चतुर्थ वार्षिक महोत्सव 21 को।

- साधू-संतों के सानिध्य में संपन्न होंगे कई धार्मिक अनुष्ठान।
- महोत्सव की तैयारियों को अमलीजामा पहनाने में जुटे भक्त।
- मशहूर गायक व नृतक देंगे अनूठी प्रस्तुतियां।
- वैदिक मंत्रोचारण के बीच यज्ञ की होगी पूर्णाहुति।
बाड़मेर/समदड़ी ( राजेश भाटी )  ग्राम पंचायत लालाणा के सड़लानाडा धाम पर श्री सुभद्रा माताजी और मामाजी महाराज की मूर्ति प्रतिष्ठा का चतुर्थ वार्षिक महोत्सव 21 फरवरी को उत्साह व उमंग के साथ धूमधाम से मनाया जाएगा। दो दिवसीय महोत्सव के दौरान मंदिर गादीपति एवं श्री निम्बेश्वर महादेव मठ खारवा - जेठन्तरी के मठाधिपति महंत भुवनेश्वरपुरी महाराज के सानिध्य में कई धार्मिक अनुष्ठानों का आयोजन होगा। इस अवसर पर बडी़ संख्या में संत - महात्माओं का समागम होगा। महोत्सव की तैयारियों को अंतिम रूप देने में भक्त - भाविक जुटे हुए हैं।
श्री सुभद्रा माताजी एवं मामाजी महाराज का धाम सड़लानाडा लालाणा के कोटवाल गणेशाराम देवासी व मेहराराम चौधरी ने बताया कि दो दिवसीय बरसी महोत्सव की तैयारियां जोरो पर है। मंदिर परिसर में रंग - रोगन करने के साथ आकर्षक रोशनी से सजाया जा रहा है। सड़लानाडा धाम वार्षिक महोत्सव समिति के संरक्षक पीराराम तरक (काकू) ने बताया कि वार्षिक महोत्सव की पूर्व संध्या पर 20 फरवरी को आयोजित होने वाली एक शाम सुभद्रा माताजी एवं मामाजी महाराज के नाम भजन संध्या में स्वर कोकिला ललिता पंवार के अलावा क्षेत्रीय गायक मनमोहक भजनों की प्रस्तुति देंगे। वहीं लोकप्रिय नृतक नवीन सैन अपने बेहतरीन नृत्य की प्रस्तुति देकर श्रोताओं को मंत्रमुग्ध करेंगे। इस दौरान विभिन्न चढा़वों की बोलियां लगाई जाएगी। भजन संध्या का संचालन मशहूर उदघोषक राजू माली बालोतरा करेंगे। 21 फरवरी को प्रातःकालीन शुभवेला में विद्वान पंडितों के वैदिक मंत्रोचारण के बीच यज्ञ की पूर्णाहुति के बाद माताजी व मामाजी महाराज की महाआरती होगी। इसके बाद माताजी व मामाजी महाराज के जयकारों के साथ लाभार्थी परिवारजन मंदिर शिखर पर ध्वज पताका चढा़एंगे। उन्होंने बताया कि महोत्सव की तैयारियों को अमलीजामा पहनाने में हड़मानपुरी, नारायणसिंह सोनगरा, बाबुलाल प्रजापत, रघुवीरदास वैष्णव, देवाराम काला, हड़मानाराम काग, गुलाबगिरी, मूलाराम माली, किशनाराम काग, केपी सिंह ,जुगल वैष्णव, गोविन्द पटेल, मगाराम टेडा, हरीसिंह सिसोदिया, किशन वैष्णव, राजूगिरी गोस्वामी सहित कई भक्त - भाविक जुटे हुए हैं।

कोई टिप्पणी नहीं