Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

स्कूलों के साथ घरों में लाएं संस्कार, तभी बदलाव संभव : कैलाश चौधरी

स्कूलों के साथ घरों में लाएं संस्कार, तभी बदलाव संभव : कैलाश चौधरी - शिक्षकों एवं अभिभावकों से बोले केंद्रीय मंत्री चौधरी -...

स्कूलों के साथ घरों में लाएं संस्कार, तभी बदलाव संभव : कैलाश चौधरी

- शिक्षकों एवं अभिभावकों से बोले केंद्रीय मंत्री चौधरी
- केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने किया बाड़मेर के विभिन्न क्षेत्रों का दौरा

बाड़मेर। विद्यालय अगर अच्छी शिक्षा दे रहे हैं। मगर घर में संस्कार का माहौल नहीं है। ऐसा अगर किसी परिवार में है, तो स्कूली शिक्षा बेकार है। विद्या भारती के स्कूलों में बच्चों को संस्कारों की शिक्षा के साथ ही कैरियर में ऊंची उड़ान के अवसर मिलते है।

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने रविवार को ऐसे ही विचार भगवान महावीर छात्रावास के वार्षिकोत्सव और आदर्श विद्या मंदिर माध्यमिक विद्यालय सिवाना में जल मंदिर के लोकार्पण एवं स्मारिका विमोचन समारोह में व्यक्त किए। 

इस दौरान हुए अभिभावक सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कैलाश चौधरी ने कहा कि किसी भी देश की शिक्षा से स्वाभिमान, स्वावलंबन और जीवन संघर्ष को तैयार होने की शिक्षा मिलनी चाहिए। इसके लिए केंद्र सरकार प्रयास कर रही है। स्कूल भी प्रयास कर रहे हैं। हमें भी प्रयास करना चाहिए। घरों में भी संस्कार का वातावरण बनाना चाहिए।

अभी तक केवल ट्रेलर आया है, फिल्म आना बाकी है : मोदी सरकार 2.0 के कार्यकाल के बारे में बोलते हुए केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि अभी तक एक साल भी पूरा नहीं हुआ, लेकिन सरकार ने एक के बाद एक कई ऐतिहासिक फैसले लेते हुए दशकों एवं सदियों की भूलों को सुधारने का काम किया है। 

उन्होंने कहा कि जम्मू - कश्मीर में धारा 370 एवं 35ए हटाने, तीन तलाक खत्म करने को लेकर कानून बनाने एवं राम मंदिर निर्माण को लेकर सुप्रीम कोर्ट में त्वरित सुनवाई करवाने जैसे कदम उठाकर मोदी सरकार ने इतिहास रचने का काम किया है।

कोई टिप्पणी नहीं