Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

रेस्क्यू सेंटर मे सुरक्षित नही वन्यजीव, जंगली बिल्ली ने हमला कर मासूम चिंकारे को घायल किया।

रेस्क्यू सेंटर मे सुरक्षित नही वन्यजीव, जंगली बिल्ली ने हमला कर मासूम चिंकारे को घायल किया। - वन्यजीव प्रेमीयो वन मंत्री से बात...

रेस्क्यू सेंटर मे सुरक्षित नही वन्यजीव, जंगली बिल्ली ने हमला कर मासूम चिंकारे को घायल किया।

- वन्यजीव प्रेमीयो वन मंत्री से बात कर सुनाई घायल वन्यजीवो की पीड़ा
बाड़मेर/धोरीमन्ना। सरकार राज्य पशु चिंकारा प्रजाति को बचाने के लिए भले ही करोड़ो रूपये बजट खर्च किया जा रहा है, लेकिन घायल वन्यजीवों के लिए धोरीमन्ना स्थित रेस्क्यू सेंटर वन अधिकारी, कर्मचारीयो, की लापरवाही की वजह से घायल वन्यजीवो को खामियाजा जान गंवाकर भुगतना पड़ रहा है।सोमवार सुबह मे रेस्क्यू सेंटर के अंदर जंगली बिल्ली ने घुसकर मासूम चिंकारे को लहुलुहान कर दिया।रेस्क्यू सेंटर मे जाट युथ प्रदेश संस्था सचिव नारणाराम चौधरी ने प्रवेश कर देखा तो जंगली बिल्ली मासूम चिंकारे को नोंच रही थी। चौधरी ने बिल्ली के चंगुल से मुक्त करवाया ओर रेंज मे घूमकर देखा तो कोई कर्मचारी नजर नही आया। इसके बाद क्षेत्रीय वन अधिकारी से सम्पर्क किया तो बताया कि में किसी साइड पर हूं। अधिकारी ने कहा कि ओर आगे इस तरह की दोबारा गलती नही करेंगे। स्पष्ट बात है कि रेस्क्यू सेंटर कर्मचारी समय पर ड्यूटी नही करते है ओर घायल वन्यजीवों की समय पर देखभाल ओर उपचार मे घोर लापरवाही बरती जा रही है। रेस्क्यू सेंटर मे अव्यवस्था को लेकर कई बार क्षेत्रीय वन अधिकारी को अवगत कराया लेकिन केवल आश्वासन के सिवाय कुछ भी सुधार नही हुआ।नारणाराम चौधरी, जम्भेश्वर पर्यावरण एवम् जीवरक्षा प्रदेश संस्था मीडिया प्रभारी भंवरलाल विश्नोई ने वन एवम् पर्यावरण मंत्री सुखराम विश्नोई से फोन पर बातचीत कर रेस्क्यू सेंटर मे घायल वन्यजीवो के लिए विभाग द्वारा भारी लापरवाही बरती जा रही है। कर्मचारी समय पर ड्यूटी नही कर रहे है ओर रात्रि के समय रेस्क्यू सेंटर भगवान् भरोसे ही चल रहा है। रेस्क्यू सेंटर के अंदर आवारा कुत्ते, सुअर, जंगली बिल्ली जैसे जानवर रात्रि के समय घूमते नजर आते है जिससे वन्यजीवो मे भय बना रहता है। ओर न ही समय पर उपचार किया जाता है। वन मंत्री ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आवश्यक कार्रवाई का आश्वासन दिया।

कोई टिप्पणी नहीं