Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

बायतू, गाँधी के जीवन पर आधारित कठपुतली नाटक मोहन से महात्मा मंचन का हुआ आयोजन।

बायतू, गाँधी के जीवन पर आधारित कठपुतली नाटक मोहन से महात्मा मंचन का हुआ आयोजन। बाड़मेर/बायतू ( घमण्डाराम परिहार ) कठपुतली का मंच...

बायतू, गाँधी के जीवन पर आधारित कठपुतली नाटक मोहन से महात्मा मंचन का हुआ आयोजन।

बाड़मेर/बायतू ( घमण्डाराम परिहार ) कठपुतली का मंचन भले ही आज दुर्लभ हो गया हो, लेकिन आनंद एवं सन्देश आज भी सार्थक नजर आता है। अजीम प्रेमजी फाउंडेशन के सहयोग से क्रिएटिव पपेट थियेटर बनारस की टीम के द्वारा आयोजित मोहन से महात्मा कठपुतली नाटक का मंचन देखकर ये आभास बखूबी हो जाता है। उल्लेखनीय है कि महात्मा गाँधी के 150 वीं वर्षगांठ के अवसर पर तरह - तरह की गतिविधियों के माध्यम से अज़ीम प्रेमजी फाउंडेशन इस अवसर के मना रहा है। जिसमें विचार विमर्श, प्रदर्शनी, नाट्य मंचन आदि शामिल है। इसी कड़ी में अज़ीम प्रेमजी फाउंडेशन बायतु, बाडमेर के सहयोग से क्रिएटिव पपेट तियेटर के निर्देशक मिथिलेश दुबे के निर्देशन में नाटक “मोहन से महात्मा “ कठपुतली का मंचन राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय हेमजी का तला, राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बायतु, राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बायतु पनजी में मंचित किया गया।  जिसे देख कर एक बार कई लोगो की पुराणी यादें ताजा हो गई। नाटक में गांधीजी अपने कहानी के सूत्रधार हैं वो भी उनकी वास्तविक आवाज में बोलते नजर आते हैं। वहीँ गाँधीजी के संदेशों को बखूबी से पेश किया जा सका। 

इसमें ये संदेश दिया जा रहा है कि एक साधारण बालक मोहन अपने कार्य, विचार एवं व्यव्हार से महात्मा के तौर पर जाना जाने लगा। सत्य अहिंसा व स्वावलंबन के अपने जीवन में अपनाकर वे कैसे एक लोकप्रिय के रूप में प्रसिद्ध होते हैं और देश के राष्ट्रपिता कहलाते हैं। बापू के जीवन की सादगी, बचपन में हीं सत्य व् निष्ठा को अपना लेना, छुआछूत, जातिवाद, नशा मुक्ति, साम्प्रदायिकता आदि सामाजिक बुराइयों से बिना हथियार के निरंतर लड़ते रहे। समय के अनुसार उनका जीवन संघर्षों और चुनौतियों के बिच गुजरा। किन्तु किसी भी स्थिति में उन्होंने सत्य और अहिंसा का दामन नहीं छोड़ा, उपरोक्त तीनों विद्यालय के विद्यार्थी तथा शिक्षकों ने यह नाटक रुचिपूर्वक देखा और कार्यक्रम का आनंद भी लिया। जिसमें कुल मिलाकर तीनो स्कूलों के 2200 विद्यार्थी, 80 - 90 शिक्षक और 100 अभिभावक उपस्थित रहे हैं। इसके साथ हीं राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बायतु में महत्मा गाँधी के जीवन पर आधारित पोस्टर का प्रदर्शनी लगाया गया। प्रदर्शनी में कुल 100 पोस्टर थे, जिसमें गाँधी के जीवन के विभिन्न पहलुओं एवं महत्वपूर्ण पडावों व् उनके संदेशों को दर्शाया गया है। कार्यक्रम के दौरान उपरोक्त तीनों विद्यालय के प्रधानाचार्य देवाराम चौधरी, दीपाराम चौधरी एवं महेंद्र डउकिया द्वारा बच्चों को सम्बोधित कर कार्यक्रम के मुख्य बिन्दुओं पर प्रकाश डाला। अज़ीम प्रेमजी फाउंडेशन की तरफ से संदीप चौधरी, सज्जन कुमार, महेश शर्मा, रवि पाठक, प्रेमाराम एवं आशिमा ने प्रतिभाग कर कार्यक्रम के सफल संचालन में सहयोग प्रदान किया।

कोई टिप्पणी नहीं