Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

जैसलमेर, चुराई हुई भेड़े बरामद, आरोपी गिरफ्तार।

जैसलमेर, चुराई हुई भेड़े बरामद, आरोपी गिरफ्तार। जैसलमेर। जिले के मोहनगढ़ थाने में डिग्गा निवासी कंवराजसिंह पुत्र रेवन्तसिंह राजपू...

जैसलमेर, चुराई हुई भेड़े बरामद, आरोपी गिरफ्तार।

जैसलमेर। जिले के मोहनगढ़ थाने में डिग्गा निवासी कंवराजसिंह पुत्र रेवन्तसिंह राजपूत ने पहुँच कर एक लिखित रिपोर्ट दर्ज करवाई। रिपोर्ट में बताया कि चक 4 बीडी में हमारा मुरब्बा सं0 88/01 आया हुआ है जो मुरब्बा मेरी माताजी आशकंवर के नाम से रजिस्टर्ड है। जहां हम परिवार सहित ढाणी बनाकर निवास कर रहे है। हमारे उक्त मुरब्बे के अन्दर ही हमारी भेड़े व बकरियां बाड़ने का बाड़ा भी बना हुआ है। हमारे पास 200 भेड़ व बकरियां है जिनको मेरे पिताजी चराते है। शाम को चराने के बाद उन सभी भेड़ व बकरियों की हमारे मुरब्बें में बने बाड़े में ही बन्द करते है। पिछले करीबन दस 15 दिनों से एक-एक, दो-दो भेड़ बकरियां गायब हो रही है, जिनकी हमने काफी तलाश की मगर नहीं मिली। कल दिनांक आठ मार्च को शाम को करीबन सात बने मेरे पिताजी ने भेड़ों को चराकर वापिस हमारे बाड़े में बन्द कर दिया। आज 9 मार्च की सुबह करीबन 8 बजे पर वापिस भेडड़ों को चराने के लिये बाड़े से निकाला तो आठ भेड़े गायब मिली जिसके बारे में मेरे पिताजी ने हम सभी परिवार वालों को बताया। फिर हमने अपने स्तर पर इधर उधर तलाश व पूछताछ की तो गुमानसिंह पुत्र पदमसिंह राजपूत निवासी मोहनगढ हाल चक 4 बीडी व बाबूसिंह पुत्र सूरतसिंह राजपूत निवासी डिग्गा हाल निवासी चक 4 बीडी ने हमारे को बताया कि कल 8 मार्च को रात्रि करीबन 9 बजे पर हम दोनों भूरा बाबा मन्दिर की तरफ से पैदल ही आ रहे थे, तभी पवन उर्फ पूनाराम पुत्र सतपाल भील निवासी मोहनगढ हाल निवासी चक 2 पोहड़ा माईनर व सोनू पुत्र चेतनराम भील निवासी गंगानगर हाल चक 9 बीडी, सुखदेव पुत्र दरबार बावरी, हाल निवासी 11 बीडी व अमरपाल पुत्र बलवन्त बावरी हाल निवासी 11 बीडी जो बीडी नहर की 25 आरडी से कुछ दूर पहले हमारे को सामने से आते हुये मिले। ओर चारों जने 8 भेड़ों को टोरते हुये नहर के पटड़े-पटड़े बीडी नहर की 25 आरडी पूलिया की तरफ जा रहे थे। हम दोनों ने उनको भेड़ों के बारे में पूछा तो पवन उर्फ पूनाराम ने बताया कि ये सभी भेड़े हमारी है जो रेवड़ से अलग हो गई थी। उसकी बात पर हमें संदेह तो हुआ मगर ज्यादा रात होने से हम रूके नहीं और अपनी-अपनी ढाणी चले गये। गुमानसिंह व बाबूसिंह ने भेड़ों के पहचान चिन्ह बताये जिनके अनुसार उन भेड़ों की पहचान हुई है। इस प्रकार चारों ने हमारी 8 भेड़ों को हमारे मुरब्बे में बने बाड़े से चुराकर ले गये हैं। इस पर पुलिस थाना मोहनगढ में प्रकरण दर्ज कर  सहायक उप निरीक्षक प्रयागाराम के द्वारा जांच की गई।
साथ ही अनुसंधान व साक्ष्यो को एकत्रित कर त्वरित कार्यवाही करते हुए, जैसलमेर जिला पुलिस अधीक्षक डॉक्टर किरन कंग सिध्दू के आदेशानुसार नाचना वृत वृताधिकारी हुकमाराम के निर्देशन में मोहनगढ़ थानाधिकारी माणकराम के नेतृत्व में सहायक उप निरीक्षक प्रयागाराम, कांस्टेबल सत्यवीरसिंह, कांस्टेबल कन्हैयालाल के साथ टीम द्वारा प्रकरण में आरोपीगणो की तलाश कर गिरफ्तार किया गया। ओर उनके कब्जे से चोरी हुई सभी 8 भेड़ों को बरामद की किया गया। इस दौरान पवन उर्फ पूनाराम पुत्र सतपाल भील, सोनू पुत्र चेतनराम भील, सुखदेव पुत्र दरबार बावरी, अमरपाल पुत्र बलवन्त बावरी को गिरफ्तार कर 11 मार्च को सम्बन्धित न्यायालय मे पेश कर पुलिस रिमाण्ड पर प्राप्त किया गया, जिनसे थाना हल्का क्षेत्र मे अन्य चोरी के प्रकरणो मे गहन पुछताछ जारी है।

कोई टिप्पणी नहीं