Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

इतिहास से प्रेरणा लेकर वर्तमान को जीते हुए भविष्य संवारें : अमराराम चौधरी

इतिहास से प्रेरणा लेकर वर्तमान को जीते हुए भविष्य संवारें : अमराराम चौधरी बाड़मेर/बायतु/गिड़ा ( घमण्डाराम परिहार ) विद्यार्थी हम...

इतिहास से प्रेरणा लेकर वर्तमान को जीते हुए भविष्य संवारें : अमराराम चौधरी

बाड़मेर/बायतु/गिड़ा ( घमण्डाराम परिहार ) विद्यार्थी हमारे उस संघर्षो भरे इतिहास को याद रखते हुए उससे प्रेरणा लेकर वर्तमान को जियें और अपना भविष्य संवारें। हमें हमारी जड़ों से जुड़ा रहना होगा। अतीत में से ही भविष्य का मार्ग  प्रशस्त होता है। ये विचार 104 वर्षीय वयोवृद्ध स्वतंत्रता सेनानी चौधरी अमराराम सारण ने राउमावि पूनियो का तला में आयोजित वार्षिकोत्सव कार्यक्रम में व्यक्त किये। 
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पुलिस उपाधीक्षक मोटाराम गोदारा ने विद्यार्थियों को विद्यालयी शिक्षा के साथ - साथ प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी हेतु मार्गदर्शन किया। उन्होंने ग्रामीणों के विद्यालय के लिए लाखों रुपए के किये गए जन सहयोग को सम्पूर्ण बाड़मेर में प्रेरणास्रोत बताया। साथ ही पर्यावरण, इको क्लब, खेल, स्काउटिंग, जन सहभागिता के क्षेत्र में विद्यालय की उपलब्धियों के लिए विद्यालय स्टाफ को बधाई दी। इस दौरान विद्यालय के प्रथम सत्र के 30 विद्यार्थियों और प्रथम गुरुजी पिताबंर करवा का सम्मान किया गया। 55 वर्षों के बाद गुरु - शिष्यो के मिलन का दृश्य बहुत ही भाव विह्वल रहा। संस्थापक सदस्य रहे स्वतंत्रता सेनानी चौधरी अमराराम सारण का विशेष बहुमान किया गया।

कार्यक्रम के दौरान भामाशाहों ने पेंतीस हजार लागत की कुर्सियां, बीस हजार का एक प्रिंटर - फोटो स्टेट मशीन, एक अलमारी, पुरस्कार स्वरूप ग्यारह हजार रुपये भेंट किये। वहीं आगामी बोर्ड परीक्षा में 95 प्रतिशत अंक हासिल करने वाले विद्यार्थी को एक लाख, 90 प्रतिशत वाले को इक्कीस हजार, 85 प्रतिशत अंक हासिल करने वाले विद्यार्थियों को लैपटॉप, गणित - अंग्रेजी - विज्ञान विषय में 75 प्रतिशत से ऊपर अंक हासिल करने वाले को प्रति विषय 11 सौ, कक्षा 10 वीं और 12 वीं प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थी को 21 सौ के पांच पुरस्कार, द्वितीय स्थान पर 11 सौ का नकद पुरस्कार देने की घोषणा की। वहीं कमजोर विद्यार्थियों के लिए भामाशाह ठाकराराम सारण और भंवरलाल सांई की ओर से अतिरिक्त शिक्षण व्यवस्था की घोषणा की। कार्यक्रम में 2019 - 20 के भामाशाहों का सम्मान किया गया। विद्यालय के प्रतिभाशाली विद्यार्थियो को स्मृति चिन्ह और प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया वहीं कक्षा 12 वीं के विद्यार्थियों को विदाई दी गई। कार्यक्रम हेतु स्मृति चिन्ह की व्यवस्था ठाकराराम सारण, माला - साफा की व्यवस्था जेठालाल लोल, प्रशस्ति पत्र की व्यवस्था भंवरलाल - हनुमानराम सांई, टेंट की व्यवस्था सरुपाराम बाना, प्रचार सामग्री व साउंड व्यवस्था बाबुलाल बेरड़ की ओर से की गई। कार्यक्रम में पीईईओ अकदड़ा जालमसिंह, सरपंच अमेदीदेवी लोल, पंचायत सदस्य भंवरलाल कुकणा, गाँव के गणमान्य नागरिक, महिलाएं, विद्यार्थी उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं