Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

बाड़मेर, महिला दिवस पर हस्तशिल्प में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं का किया सम्मान।

बाड़मेर, महिला दिवस पर हस्तशिल्प में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं का किया सम्मान। बाड़मेर। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर ग...

बाड़मेर, महिला दिवस पर हस्तशिल्प में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं का किया सम्मान।

बाड़मेर। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर ग्रामीण विकास एवं चेतना संस्थान में थार के परम्परागत हस्तशिल्प के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिला दस्तकारों को प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया।

बलदेव नगर स्थित केन्द्र में ग्रामीण महिला दस्तकारों ने मेहँदी प्रतियोगिता, नृत्य प्रतियोगिता, रंगोली प्रतियोगिता, गायन प्रतियोगिता में भाग लिया वहीं अपने अनुभवों को भी मंच से साझा किया।

इस मौके पर संस्थान कार्यकर्ता मोहिनी देवी ने कहा की संस्थान गत एक दशक से महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में कार्य कर रहा है, और वर्तमान में 22 हजार से अधिक महिलाऐं संस्थान के साथ जुड़ कर अपनी पहचान बना रही है। इतनी बड़ी महिला शक्ति साथ होना हमारे लिए गर्व और ख़ुशी की बात है।

सांवा गांव की चूनी देवी ने बताया कि बारहवीं कक्षा से आगे नहीं पढ़ पाई, लेकिन अब रूमा देवी से प्रेरणा पाकर डिजाइनर बनने के लिए आगे पढ़ाई करूंगी।

इस अवसर पर रामसर कुआ विद्यालय की प्रिंसिपल चम्पा चौधरी ने बताया की हस्तशिल्प का कार्य करने वाली अधिकतर महिलाएं कम पढ़ी लिखी है। लेकिन उनके पास हुनर है, जिसके बल पर वो अपने परिवार का लालन-पालन करने के साथ अपनी पहचान भी बना सकती है। 

उन्होंने संस्थान अध्यक्ष रुमा देवी का उदाहरण देते हुए बताया की रुमा देवी सिर्फ आठवीं पास होने के बावजूद राष्ट्रिय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपना एवं देश एवं राज्य का नाम रोशन कर रही है, एवं हस्तशिल्प का कार्य करने वाली हजारों महिलाओं को नेतृत्व प्रदान कर रही है, जो हम सभी के लिए प्रेरणा एवं गर्व की बात है।

इस अवसर पर मोहिनी देवी, धनेश्वरी, कमला, चुनी, खातु देवी सहित दौ सौ से अधिक महिला दस्तकार उपस्थित रहे। सभी महिला दस्तकारों ने रुमा देवी को PhD डाॅक्टर की मानद उपाधि मिलने पर ख़ुशी व्यक्त की।

कोई टिप्पणी नहीं