Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

कोरोना के रोकथाम के उपायो के प्रभावी क्रियान्वयन को इन्सीडेन्ट कमाण्डर नियुक्त।

कोरोना के रोकथाम के उपायो के प्रभावी क्रियान्वयन को इन्सीडेन्ट कमाण्डर नियुक्त। बाडमेर। कोरोना वायरस की रोकथाम के उपायों को प्र...

कोरोना के रोकथाम के उपायो के प्रभावी क्रियान्वयन को इन्सीडेन्ट कमाण्डर नियुक्त।

बाडमेर। कोरोना वायरस की रोकथाम के उपायों को प्रभावी रूप से लागू करने तथा लॉक डाउन के मद्देनजर जिले के समस्त उपखण्ड अधिकारियों, तहसीलदारों को अपने अपने क्षेत्राधिकार में इन्सीडेन्ट कमाण्डर नियुक्त किया गया है। इन्सीडेन्ट कमाण्डर के अधीन अन्य सभी लाईन विभाग के अधिकारी निर्दिष्ट क्षेत्र में कार्य सम्पादन करेंगे।
जिला कलक्टर आपदा प्रबन्धन सहायता एवं नागरिक सुरक्षा अंशदीप ने बताया कि इन्सीडेन्ट कमाण्डर्स विशेष रूप अपने क्षेत्र में आने वाले समस्त अस्पतालों के बुनियादी ढांचे के विस्तार एवं वृद्धि के संसाधनों, श्रमिकों और सामग्री को जुटाने के सभी प्रयास बिना किसी बाधा के जारी रहेंगे। इन्सीडेन्ट कमाण्डर्स आदेश से छूट दी गई सभी गतिविधियों तथा उनसे जडी आपूर्ति की श्रृंखला बिना किसी बाधा के सुचारू रूप से जारी रखेंगे। इन्सीडेन्ट कमाण्डर अपने क्षेत्र में कोरोना वायरस के प्रभावी रोकथाम के प्रयासों को जमीनी स्तर पर लागू करने के लिए पुलिस विभाग से सहयोग प्राप्त कर सकेंगे।
जिला कलक्टर ने बताया कि इन्सीडेण्ट कमाण्डर की समग्री निगरानी में लॉक डाउन के दौरान खुले रहने वाले विभागों के स्टॉफ के आने जाने के लिए पास भी सूचना एवं प्रोद्योगिकी विभाग द्वारा जारी किये जाएंगे। छूट वाली श्रेणी की औद्योगिक इकाई, वर्क शॉप के लिए स्वीकृतियां जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबन्धक द्वारा जारी की जाएगी। उक्त इकाइयों में काम करने वाले स्टाफ, श्रमिकों के पास महाप्रबन्धक जिला उद्योग केन्द्र द्वारा इन्सीडेन्ट कमाण्डर की समग्र निगरानी में जारी किये जायेंगे। आवश्यक वस्तुएं यथा राशन की दुकान, खाद्य सामग्री, किराना, जनरल प्रोविजन, फल एवं सब्जी, डेयरी एवं दूध वितरण केन्द्र, मास एवं मछली, पशु आहार, दवाईयां चिकित्सा उपकरण, बीज एवं कीटनाशक आदि की दुकान वाले व्यक्तियों के लिए उनके स्टाफ सहित पास इन्सीडेन्ट कमाण्डर अथवा उनके सहायक के रूप में उप पुलिस अधीक्षक, क्षेत्र के थानाधिकारी द्वारा जारी किया जाएगा।
जिला कलक्टर ने बताया कि किसी व्यक्तिगत आपातकालीन स्थिति में अस्थाई पास इन्सीडेन्ट कमाण्डर (उपखण्ड अधिकारी एवं तहसीलदार) अथवा उनके सहायक के रूप में उप पुलिस अधीक्षक तथा क्षेत्र के थानाधिकारी द्वारा जारी किया जायेेगा। पूर्व में जारी किये गये आदेशों में जिला परिवहन अधिकारी को अघिकृत किया गया था, जो इस आदेश के पश्चात् अस्थाई पास जारी करने हेतु अधिकृत नहीं रहेंगे। किसी भी तात्कालिक चिकित्सकीय आपात स्थिति में सिस्टम को उदार बनाया जा सकता है तथा उपलब्ध निकटतम बीट कान्सटेबल द्वारा मौके पर ही बिना किसी विलम्ब के पास जारी किया जा सकेगा ताकि व्यक्ति ओर वाहन को अस्पताल के रास्ते में किसी भी चैक पोइंट पर बाधित नहीं किया जाये। तदनुसार पुलिस अधीक्षक, पुलिस उप अधीक्षक आपातकालीन पास जारी करने हेतु उपयुक्त व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे। ऑन लाईन पास प्राप्त करने हेतु एप आधारित व्यवस्था लागू की जा चुकी है, इस हेतु उक्त एप का उपयोग करें।
जिला कलक्टर ने बताया कि जिला परिवहन अधिकारी अस्पतालों के निकट बदलते हुए क्रम में टेक्सी, ऑटो की उपलब्धता के लिए एक छोटे पूल की व्यवस्था करेंगे। यह व्यवस्था बीमार व्यक्ति एवं उसके सहयोगी को अस्पताल से घर जाने के लिए की जाएगी। इसी प्रकार की परिवहन व्यवस्था घर से अस्पताल आने की आवश्यकता पूर्ति करना सुनिश्चित करेंगे जिसका प्रबन्धन स्थानीय पुलिस द्वारा किया जाएगा। अनुमत की गई आवश्यक वस्तुओं के परिवहन में कार्यरत परिवहन व्यवसायियों के कार्यालयों, भण्डारगृहों एवं गोदामों को खुला रखने की स्वीकृति संबंधित क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी, जिला परिवहन अधिकारी द्वारा की जाएगी। इसी प्रकार गोदामों के मालिकों, स्टॉफ एवं गोदामों में सामान के उतारने एवं चढाने के लिए आवश्यक श्रमिकों के निवास से कार्यस्थल एवं कार्यस्थल से निवास तक आने जाने के पास भी इन्सीडेन्ट कमाण्डर की समग्र निगरानी में संबंधित जिला परिवहन अधिकारी के द्वारा जारी किए जाएंगे।
जिला कलक्टर अंशदीप ने बताया कि लॉक डाउन आदेशों को प्रभावी ढंग से लागू किया जाए ताकि सामाजिक अलगाव के माध्यम से लॉकडाउन के उद्देश्योें की प्राप्ति हो सकें एवं मानव जीवन और उसका स्वास्थ्य खतरे में नहीं पडे़ साथ ही कोविड 19 के वायरस के खतरे का सफलतापूर्वक निराकरण किया जा सकें।

कोई टिप्पणी नहीं