Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

बालिका शिक्षा पर जोर देने की जरूरत : प्रियंका मेघवाल

बालिका शिक्षा पर जोर देने की जरूरत : प्रियंका मेघवाल  बाड़मेर/बायतु ( घमण्डाराम परिहार ) राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बोड़वा मे...

बालिका शिक्षा पर जोर देने की जरूरत : प्रियंका मेघवाल 

बाड़मेर/बायतु ( घमण्डाराम परिहार ) राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बोड़वा में वार्षिकोत्सव व छात्र संगम, भामाशाह सम्मान समारोह कार्यक्रम का आयोजन हुआ। विद्यालय की बालिकाओ द्वारा स्वागत गीत व तिलक लगाकर मेहमानों का स्वागत किया गया।कार्यक्रम की मुख्य अतिथि प्रियंका मेघवाल, सिमरथाराम बेनिवाल, चैनाराम गोदारा, नरसिंगाराम मेघवाल के द्वारा माँ सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की गई।विद्यार्थियों द्वारा भारत माँ व किसान, मजदूर, सैनिक की वेशभूषा पहनकर कविता प्रस्तुत की गई। हुकमसिंह सारण ने सम्बोधित करते हुए कहा कि वार्षिकोत्सव व छात्र संगम कार्यक्रम का उद्देश्य हैं कि शैक्षणिक व सह - शैक्षणिक गतिविधियों में उच्च योग्यता पर व उच्च श्रेणी में पहुंचे है। उनका सम्मान करना है ताकि उनसे प्रेरणा लेकर  वर्तमान के विद्यार्थी आगे बढ़ सके। शिक्षा, विद्यार्थी, अभिभावक तीनो की कड़ी है। जब तीनो बराबर रहेंगे तो उपलब्धि हासिल कर सकते हैं। रेखाराम सियाग ने सम्बोधित करते हुए कहा कि अभिभावकों का विद्यालय से जुड़ाव जरूरी है। हर व्यक्ति में अच्छी काबिलियत होती है।योग्यता की कोई कमी नहीं है। लक्ष्य ऊंचा रखकर आगे बढ़ने की बात कही। दुनिया की कोई भी ऐसी ताकत नही है जो रोक सके।विद्यार्थियों को गुरुजनो के आज्ञा का पालन करना चाहिए। बिना शिक्षा के जीवन अधूरा है। समाजसेवी व भामाशाह चैनाराम गोदारा ने सम्बोधित करते हुए कहा कि इस विद्यालय से ही प्रतिभाएं पढ़कर के आगे बढ़े। उन्होंने विद्यार्थियों से कहा कि बोर्ड की परीक्षा नजदीक है, इसलिए मन लगाकर पढाई करे। विद्यालय में खेल मैदान के लिए भामाशाह द्वारा जमीन आंवटित कर दी गई हैं, जो अब जल्दी ही खेल मैदान बनकर तैयार हो जाएगा। विद्यालय में किसी प्रकार की कमी है  या सहायता की जरूरत हैं तो अवगत करवाकर समस्या से निजात दिलाने का प्रयास किया जाएगा। सिमरथाराम बेनीवाल ने कहा कि आज का जमाना प्रतियोगिता का जमाना हैं। मेहनत करके ही विद्यार्थी  अपनी मंजिल हासिल कर सकते हैं।पढाई के साथ - साथ संस्कारो का होना बहुत ही जरूरी है। प्रियंका मेघवाल ने कहा कि समय का ध्यान रखते हुए समय का पालन करे। शांत वातावरण में रहकर पढ़ाई करे।ग्रामीण क्षेत्र में प्रतिभाओ की कोई कमी नही है। विद्यार्थियों को विद्यालयी शिक्षा के साथ- साथ प्रतियोगिता परीक्षाओ की तैयारी हेतु मार्गदर्शन किया। बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने की बात कही। प्रधानाचार्य घेवरचंद भाटिया ने विद्यार्थियों के उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं देते हुए विद्यालय का प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। विद्यार्थियों, भामाशाहो, अतिथियों के सम्मान के लिए देवाराम गोयल ने मोमेंटो भेंट किये। भामाशाहो ने विद्यालय के विकास के लिए बढ़ - चढ़कर के घोषणाएं की गई। कार्यक्रम के दौरान जिला प्रमुख प्रियंका मेघवाल, पूर्व प्रधान सिमरथाराम बेनिवाल, पूर्व जिला परिषद सदस्य नरसिंगाराम मेघवाल, सीबीईओ रेखाराम, हुकमसिंह सारण, बलदेव कुमार कोडेसा, समाजसेवी व भामाशाह चैनाराम गोदारा, डालूसिंह कालीराणा, जोगाराम शर्मा, भेराराम देवासी, जेठाराम नेण, रामराम नेण, भूराराम देवासी, भोमाराम गोदारा, चैनाराम हुड्डा, देवाराम गोयल, भगाराम गोदारा, टीकमाराम लुखा, निम्बाराम जाखड़, जुंझाराम जाखड़ सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं