Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

धोरीमन्ना, वाट‌्सएप ग्रुप से आर्थिक सहायता में जुटाए साढ़े छह लाख रुपए।

धोरीमन्ना, वाट‌्सएप ग्रुप से आर्थिक सहायता में जुटाए साढ़े छह लाख रुपए। - जिला कलेक्टर ने मृतक के घर सवेंदना प्रकट कर सहायता रा...

धोरीमन्ना, वाट‌्सएप ग्रुप से आर्थिक सहायता में जुटाए साढ़े छह लाख रुपए।

- जिला कलेक्टर ने मृतक के घर सवेंदना प्रकट कर सहायता राशि प्रदान की

बाड़मेर/धोरीमन्ना। तहसील कार्यालय में कार्यरत कनिष्ठ सहायक की गत 23 फरवरी को शॉर्ट सर्किट से करंट आने से मौत हो गई थी। जिसको लेकर सोशल मीडिया पर वाट‌्सएप ग्रुप के माध्यम से आर्थिक सहायता के रूप में युवाओं ने पहल करते हुए सहायता साढ़े छह लाख रुपये जुटाकर सामाजिक सरोकार निभाया।

सामाजिक सरोकार एवम नवाचार का प्रतीक धोरीमन्ना टैगलाइन नेटवर्क के सहायता अभियान के तहत सहसयोंजक श्रीराम ढ़ाका एवं गुड़ामालानी तहसील में कार्यरत मनोहर बिश्नोई ने राजू सात्वना पहल वाट‌्सएप ग्रुप के माध्यम से साढ़े छह लाख रुपए की राशि एकत्रित हुई। साढ़े तीन लाख रुपये राजूराम के पिताजी साजनराम के खाते में ही ली गई तथा शेष राशि रोकड़ उनके परिजनों के घर पर जाकर दी गई। राजूराम के परिजन गरीब होने से राजू सात्वना पहल वाट‌्सएप ग्रुप के युवाओं ने पहल करते हुए मृतक के परिजनों के लिए सहायता राशि एकत्रित करने का बीड़ा उठाया। युवाओ का हौसला बढ़ाते हुए गुड़ामालानी विधायक हेमाराम चौधरी ने पचास हजार एवं तहसील कार्यालय धोरीमन्ना के द्वारा एक लाख बीस हजार रुपये की राशि उपखण्ड अधिकारी कुसुमलता चौहान, तहसीलदार भागीरथराम बिश्नोई, नायब तहसीलदार रायमलराम द्वारा राजूराम के घर जाकर रोकड़ दिये। 

वही बाड़मेर जिले के राजस्व विभाग के कार्मिकों द्वारा एकत्रित राशि शुक्रवार को एक लाख सैंतीस हजार रुपए जिला कलेक्टर अंशदीप द्वारा रोकड़ प्रदान कर बुजुर्ग पिता को सात्वना दी तथा मृतक आश्रित के तहत उनके छोटे भाई को सरकारी नोकरी दिलाने का आश्वासन दिया। इस दौरान जिला कलेक्टर अंशदीप ने मुहिम की सराहना करते हुए कहा कि संगठित होकर कार्य करने में हमेशा सफलता हासिल होती है। उन्होंने कहा कि मानव सेवा से बढ़कर कोई धर्म नहीं है। सोशल मीडिया पर सामाजिक सरोकार का काम किया गया है। जरूरतमंदों के लिए आर्थिक सहायता करना ही सबसे बड़ा पुण्य है। इस दौरान गुड़ामालानी तहसीलदार जोधसिंह ने कहा कि जरूरतमंदों की मदद करना ही सच्ची मानवता है। उन्होंने कहा कि आज कल युवा अधिकांश समय सोशल मीडिया पर व्यस्त रहते है। ऐसे में कुछ पल पुण्यार्थ के लिए निकाल दे तो किसी कि जिंदगी में नया मोड़ सकता है। इस अवसर पर आरजीटी थानाधिकारी भाखराराम बिश्नोई, टिलसिह राठौड़, जोगाराम सारण, पीओ सुमेरसिंह शेखावत सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं