Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

बाड़मेर, दांडी सप्ताह के तहत विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित।

बाड़मेर, दांडी सप्ताह के तहत विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित। बाड़मेर। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के विचार आज भी प्रासंगिक है। इसलिए...

बाड़मेर, दांडी सप्ताह के तहत विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित।

बाड़मेर। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के विचार आज भी प्रासंगिक है। इसलिए भारत ही नहीं, बल्कि पूरा विश्व उनको याद कर रहा है। जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मोहनदान रतनू ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती के उपलक्ष  में दांडी सप्ताह की वर्षगांठ के अवसर पर शुक्रवार को जिला शिक्षा एवं शिक्षक प्रशिक्षण संस्थान में आयोजित गांधी भजन एवं देशभक्ति गीत प्रतियोगिता के अवसर पर यह बात कही।

मुख्य कार्यकारी अधिकारी मोहनदान रतनू ने कहा कि विशेषकर युवा पीढ़ी को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के आदर्शाें को आत्मसात करने की जरूरत है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का अहिंसा का सिद्धांत विश्व को नई दिशा दे रहा है। गांधी जीवन दर्शन समिति के सह संयोजक अमित बोहरा ने महात्मा गांधी के जीवन, कृतित्व एवं व्यक्तित्व पर विस्तार से प्रकाश डाला। 

डाइट के उप प्रधानाचार्य डॉक्टर लक्ष्मीनारायण जोशी ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जन्म एक साधारण परिवार में हुआ। उन्होंने महात्मा तक का सफर पूरा किया। उनके नेतृत्व में स्वाधीनता संग्राम के साथ देश को आजादी दिलाई गई। इस दौरान जयनारायण व्यास बीएड महाविद्यालय बाड़मेर की छात्राध्यापिका गायत्री ने ए मेरे प्यारे वतन, सुशीला राठौड़ ने हे प्रीत जहां की रीत, संतोष, पीकल कंवर ने संदेशे आते है, सुनीता ने पन्नाधाय से संबंधित, विमला ने ऐ मेरे प्यारे वतन, मंजू ने मैं तुमको विश्वास दूं, आरती ने रघुपति राघव राजा राम की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम की शुरूआत में आरती ने रघुपति राघव राजाराम भजन की प्रस्तुति दी। 

कार्यक्रम में एडवोकेट सुरेश चौधरी, डाइट के वरिष्ठ व्याख्याता मांगूसिंह राठौड़, कमलसिंह परमार, जयनारायण बीएड कालेज प्राचार्य डॉक्टर हितेश आचार्य, दिलीप, रमेश राजपुरोहित समेत कई गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन छात्राध्यापिका आरती एवं सुशीला ने किया। 

इधर, महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती वर्ष के तहत चल रहे विभिन्न कार्यक्रमों की श्रृंखला में दांडी मार्च सप्ताह के तहत पंचायत समिति स्तर पर शुक्रवार को गांधी भजन एवं देशभक्ति गीत प्रतियोगिता का आयोजन हुआ। इस दौरान विभिन्न वक्ताओं ने महात्मा गांधी के आदर्शाें एवं जीवन दर्शन पर प्रकाश डालते हुए युवा पीढी को गांधी दर्शन को आत्मसात करने का संदेश दिया।

कोई टिप्पणी नहीं