Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

जैसलमेर, पुलिस मुख्यालय में हुआ ‘’ऑपरेशन आशा प्रथम’’ मिटींग का आयोजन।

जैसलमेर, पुलिस मुख्यालय में हुआ ‘’ऑपरेशन आशा प्रथम’’ मिटींग का आयोजन। - विभिन्न संस्थाओं के सदस्य एवं बाल कल्याण समिति के अधिक...

जैसलमेर, पुलिस मुख्यालय में हुआ ‘’ऑपरेशन आशा प्रथम’’ मिटींग का आयोजन।

- विभिन्न संस्थाओं के सदस्य एवं बाल कल्याण समिति के अधिकारी रहे उपस्थित
- बाल श्रम को रोकने के लिए विभिन्न कानूनो की दी जानकारी
- पुलिस अधीक्षक ने गुमशुदा नाबालिक बच्‍चों की तलाश एवं बाल श्रम के बारे में दिये विशेष दिशा निर्देश
जैसलमेर। जिला पुलिस अधीक्षक डॉक्टर किरन कंग सिध्‍़दू  की अध्यक्षता में पुलिस अधीक्षक कार्यालय जैसलमेर में पुलिस मुख्‍यालय द्वारा गुमशुदा नाबालिक बच्‍चों की तलाश एवं बाल श्रम की रोकथाम हेतु चलाये जा रहे अभियान ‘’ऑपरेशन आशा प्रथम’’ के तहत मिटींग का आयोजन किया गया। उक्त मिटींग में बाल कल्‍याण समिति अध्‍यक्ष अमीनखॉ, हिम्मतसिंह कविया स0 नि0 बाल विभाग जैसलमेर, सुरेश कुमार श्रम विभाग जैसलमेर, किशोर न्‍याय बोर्ड सदस्‍य पूजा चौहान, सखी सेंटर से ललिता सैनी, चाईल्‍ड लाईन जैसलमेर से अनुराधा शर्मा व दीपक कुमार, सवेरा संस्‍थान जैसलमेर चेतन पालिवाल, विशेष योग्‍य जन विद्यालय किशनाराम व एएसटीयू से सउनि नारायणसिंह व हैड कानि शैलेन्‍द्रसिंह तथा जिला जैसलमेर के समस्त पुलिस बाल कल्याण अधिकारी भी उपस्थित रहे।
     
गोष्ठी में शरीक अधिकारीगण द्वारा आयोजित मिटिंग के बारे में विस्तार में जानकारी दी। 
पुलिस अधीक्षक द्वारा सम्बोधित करते हुए बताया कि छोटे बच्चों को जबरन मजदूरी नहीं करवाने की बात रखी तथा इस प्रकार का कोई मामला सामने आने पर समस्त संस्थाओं एवं उपस्थित गणमान्य व्यक्यिों को उसके विरूद्ध कार्यवाही करवाने की बात रखी। तथा बच्चों के बचपन के साथ हो रहे अन्याय की तरफ ध्यान आकर्षित करते हुए बताया कि जिले में संचालित विभिन्न होटलों, रेस्टोरेंट, ढाबों मे उनसे कई कार्य करवाये जाते है तथा न करने पर मारपीट भी की जाती है जो कि न्याय संगत नहीं है इस संबंध में सभी को सतर्क रहने की बात रखी। पुलिस थाना के बीट कानि0 भी अपने अपने बीट क्षैत्र मे होने वाले बाल श्रम की जानकारी थानाधिकारी को तुंरत प्रभाव से देगें ताकि प्रभावी कार्यवाही अमल में लाई जा सके। जिला एवं थानास्तर पर होने वाली जनसहभागिता मिटीग के दौरान भी बाल कल्याण समिती एवं चाईल्ड लाईन के सदस्यो को भी मिटींग में सम्मिलित किया जावेगा। प्रत्येक नागरिक को हर वक्त बाल श्रम को रोकने के लिए तत्पर रहना चाहिए। 

गोष्ठी में पुलिस अधीक्षक द्वारा समस्त संस्थाओं को एक साथ मिलकर कार्य करने की बात कही तथा जिले में बच्चों के अधिकारों की सुरक्षा करने के निर्देश दिये तथा बच्चों के संबंध में किशोर न्याय (बालकों की देखरेख और संरक्षण अधिनियम 2015 के तहत विभिन्न धाराओं के तहत कार्यवाही अमल में लाने की बात कही, ताकि बाल श्रम की प्रभावी रोकथाम एवं बालको के विरूद्व होने वाले जघन्य अपराधो पर प्रभावी तोर पर अंकुश लगाया जा सके।

कोई टिप्पणी नहीं