Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

अन्य जिलों से लौटे शिक्षकों को 14 दिन तक होम आइसोलेशन में रहना होगा।

अन्य जिलों से लौटे शिक्षकों को 14 दिन तक होम आइसोलेशन में रहना होगा। - जिला कलक्टर ने निर्देश पर मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी ने ज...

अन्य जिलों से लौटे शिक्षकों को 14 दिन तक होम आइसोलेशन में रहना होगा।

- जिला कलक्टर ने निर्देश पर मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी ने जारी किए निर्देश।
बाड़मेर। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए अन्य जिलों से लौटे शिक्षकों को 14 दिनों तक होम आइसोलेशन पर रहना होगा। जिला कलक्टर विश्राम मीणा के निर्देश पर मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी डालूराम चौधरी ने इस संबंध में निर्देश जारी किए है।
मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी डालूराम चौधरी ने बताया कि यह जानकारी में आया है कि लॉक डाउन की घोषणा के बाद कई अन्य जिलों के अध्यापक मुख्यालय छोड़ने की अनुमति नहीं होने के बावजूद अपने गृह जिलों में चले गए है। इन लोगों की ओर से अवकाश भी स्वीकृत नहीं कराया गया है। यह यह कार्मिक छुपके से वापिस बाड़मेर लौट रहे है। साथ ही अपनी यात्रा का विवरण छिपाते हुए कार्यग्रहण कर रहे है। ऐसे में यह कार्मिक अपना खुद का नुकसान करने के साथ कोरोना ट्रांसपोर्टर बनकर बड़ा नुकसान कर सकते है। उनके मुताबिक कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम एवं प्रभावी अंकुश के लिए अन्य जिलों जयपुर,जोधपुर, भीलवाड़ा, झूंझनू, टोंक, बीकानेर एवं अन्य समस्त जिलों से जो शिक्षक लौटे है। वे शिक्षक 14 दिन तक अनिवार्य एवं आवष्यक रूप से होम आइसोलेशन में रहे। इसकी कठोरता से पालना की की जाए। उन्होंने निर्देश दिए है कि होम आइसोलेशन में रखे गए लोगों की निगरानी के लिए गठित निगरानी सतर्कता टीमों में संक्रमित जिलों से लौटे कार्मिकों को शामिल नहीं करने के निर्देश दिए है। निर्देश के अनुसार कोरोना संक्रमण के लक्षण वाले कार्मिक एवं कोरोना संक्रमित के संपर्क में आने वाले कार्मिक संपर्क के उपरांत स्वास्थ्य परीक्षण अनिवार्य रूप से करवाएं। किसी भी व्यक्ति में कोरोना संक्रमण में लक्षण है और उसकी ओर से जान बूझकर स्वास्थ्य परीक्षण नहीं करवाया जा रहा है। इसके अलावा वह होम आइसोलेशन में भी नहीं है तो उसके खिलाफ नियमानुसार सख्त कार्यवाही की जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं