Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

झांक गांव को भामाशाहो ने मिलकर लिया गोद, कई भामाशाह मददगार बने।

झांक गांव को भामाशाहो ने मिलकर लिया गोद, कई भामाशाह मददगार बने। - कैलाश ट्रेडर्स द्वारा गांव में मास्क व सेनेट्राइज निःशुल्क वि...

झांक गांव को भामाशाहो ने मिलकर लिया गोद, कई भामाशाह मददगार बने।

- कैलाश ट्रेडर्स द्वारा गांव में मास्क व सेनेट्राइज निःशुल्क वितरण किया गया।
बाड़मेर। जिले में कोरोना के संकट से निपटने के लिए भामाशाहो ने मिलकर झांक गांव को गोद लेकर गांव के जरूरतमन्दों की सेवा कर रहे है। झांक में भामाशाह युवा उधमी कैलाश कुमार देवीचंद मालू झाक, कैलाश ट्रेडर्स द्वारा गांव में प्रत्येक घर पर मास्क व सेनेट्राइजर बांटा गया। भामाशाह कैलाश मालू ने बताया कि झांक गांव में कोरोना वायरस की महामारी के दौरान गांव के भामाशाहो द्वारा गरीब परिवार के ग्रामीणों को राशन सामग्री व गेंहू वितरित किये। इसी कड़ी में देवीसिंह राजपूत, हीरालाल सोनी, भोमाराम बेनीवाल, देवाराम आईजी ग्रुप, अणदाराम बेनीवाल, लक्ष्मणराम कुमावत, किशनाराम लोल, चुनाराम कुमावत, हुक्माराम सुथार, पोकरराम बेरड़, चेनाराम सियाग, बांकीदास जैन, लूणकरण जैन, कैलाश मालू व ओर कई भामाशाहों द्वारा गेंहू ओर राशन दिया गया। झांक गांव के भामाशाहो ने कहा कि झांक गांव का हर जरूरतमंद कभी भूखा नही सोएगा ओर हर समय हम उनके साथ हैं। गांव में हर घर व दुकान पर मास्क व सेनेट्राइजर की बोतल पहुचने पर ग्रामीणों के चेहरों पर खुशी नजर आ रही थी।

कोई टिप्पणी नहीं