Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

गडरारोड़, बिना अनुमति मुख्यालय छोड़ने पर विकास अधिकारी को कारण बताओ नोटिस।

गडरारोड़, बिना अनुमति मुख्यालय छोड़ने पर विकास अधिकारी को कारण बताओ नोटिस। बाड़मेर। लॉक डाउन के दौरान अधिकारियों एवं कर्मचारियो...

गडरारोड़, बिना अनुमति मुख्यालय छोड़ने पर विकास अधिकारी को कारण बताओ नोटिस।

बाड़मेर। लॉक डाउन के दौरान अधिकारियों एवं कर्मचारियों के किसी भी प्रकार के अवकाश एवं मुख्यालय छोड़ने की अनुमति नहीं होने के बावजूद बिना सक्षम अनुमति के मुख्यालय छोड़ने पर जिला कलक्टर विश्राम मीणा ने गडरारोड़ पंचायत समिति के विकास अधिकारी गणपत राम सुथार को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।
जिला कलक्टर विश्राम मीणा ने बताया कि गडरारोड़ विकास अधिकारी गणपत राम सुथार के बिना सक्षम अनुमति के अपने गांव चाचा जाने की जानकारी मिली थी। इसकी जांच शिव उपखंड अधिकारी से करवाई गई। शिव उपखंड अधिकारी से प्राप्त जांच रिपोर्ट के अनुसार विकास अधिकारी गणपत राम सुथार बिना सक्षम अनुमति के 3 अप्रैल को मुख्यालय छोड़कर जैसलमेर एवं जैसलमेर से अपने गांव चाचा, पुलिस थाना पोकरण चले गए। यह कोरोना वायरस के मददेनजर अति संवेदनशील क्षेत्र है। इसके बाद विकास अधिकारी 7 अप्रैल को सुबह वापिस गडरारोड़ लौट आए। वापिस लौटने के उपरांत इनकी ओर से अपनी स्क्रीनिंग नहीं करवाई गई। जबकि कोरोना वायरस से संक्रमित स्थान से लौटने पर इनको सबसे पहले अपनी स्क्रीनिंग करवानी थी। निर्धारित अवधि के दौरान इनको क्वारेंटाइन अथवा होम आइसोलेशन में रहना था। लेकिन इनकी ओर से ऐसा नहीं करते हुए विभिन्न बैठकों में भाग लिया गया। इससे इनके संपर्क में आने वाले व्यक्तियों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ हुआ।
जिला कलक्टर मीणा ने बताया कि इनको कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है कि राज्य सरकार के आदेशों के विपरीत बिना सक्षम अधिकारी की अनुमति से मुख्यालय छोड़ने एवं मुख्यालय पर पुनः उपस्थित होकर स्क्रीनिंग नहीं करवाने, कोरोना वायरस के प्रकोप से ग्रसित क्षेत्र में यात्रा करने के उपरांत निर्धारित अवधि तक क्वारेंटाइन, होम आइसोलेशन में नहीं रहने एवं संपर्क में आने वाले व्यक्तियों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ करने को लेकर क्यों नहीं, उनके विरूद्व नियमानुसार अनुशासनात्मक कार्यवाही अमल में लाई जाए। गडरारोड़ विकास अधिकारी को नोटिस प्राप्ति की तीन दिन की अवधि में जवाब प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए है। ऐसा नहीं करने पर नियमानुसार अग्रिम कार्यवाही की जाएगी। इसी तरह जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मोहनदान रतनू ने भी गडरारोड़ पंचायत समिति के विकास अधिकारी गणपत राम सुथार को बिना सक्षम अनुमति के मुख्यालय छोड़ने पर कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए नोटिस प्राप्ति के तीन दिवस के भीतर अपना जवाब मय चिकित्सा अधिकारी की स्क्रीनिंग रिपोर्ट के प्रस्तुत करने के निर्देशदिए है। ऐसा नहीं करने पर नियमानुसार अग्रिम कार्यवाही की जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं