Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

घर वापसी के लिए प्रवासियों को सोमवार से करवाना होगा पंजीकरण।

घर वापसी के लिए प्रवासियों को सोमवार से करवाना होगा पंजीकरण। -हैल्प लाइन नंबर, ई- मित्र मोबाइल एप, पोर्टल, ई मित्र कियोस्क पर सो...

घर वापसी के लिए प्रवासियों को सोमवार से करवाना होगा पंजीकरण।

-हैल्प लाइन नंबर, ई- मित्र मोबाइल एप, पोर्टल, ई मित्र कियोस्क पर सोमवार से करवाया जा सकता है पंजीकरण।
बाड़मेर। प्रवासियों एवं बाड़मेर जिले में ठहरे बाहरी श्रमिकों को घर वापसी के लिए सोमवार से अपना पंजीकरण करवाना होगा। राज्य सरकार की ओर से इनकी घर वापसी के लिए समुचित इंतजाम किए जा रहे है।
जिला कलक्टर विश्राम मीणा ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार प्रवासियों यथा अन्य प्रदेशों में रुके बाड़मेर के लोगों के अलावा जिले में रुके बाहरी प्रदेशों के श्रमिकों को अपने घर भिजवाने की व्यवस्था की जा रही है। 
इसके लिए प्रवासियों एवं श्रमिकों को सोमवार से हैल्पलाइन नंबर 18001806127, पोर्टल emitra.rajasthan.gov.in, ई-मित्र मोबाइल एप अथवा ई-मित्र कियोस्क पर अपना पंजीकरण करवाना होगा। जिला कलक्टर मीणा के मुताबिक श्रमिकों के पंजीकरण के बाद राज्य सरकार संबंधित राज्य सरकार से सहमति प्राप्त करेगी। इसके बाद राज्यों की आपसी सहमति के आधार पर प्रवासी और श्रमिक अपने घर जा सकेंगे। उन्होंने बताया कि पंजीकृत प्रवासियों
एवं श्रमिकों की संख्या के अनुसार निर्धारित तिथि एवं समय पर अपने घर जाने की व्यवस्था उपलब्ध कराई जाएगी। जो व्यक्ति अपने वाहन से आना चाहेगा, उसे पंजीकरण में इसका उल्लेख करना होगा। उन्होंने बताया कि अनुमति मिलने के बाद ही प्रवासी एवं श्रमिक अपने घर लौट सकेंगे।राज्य सरकार के निर्देशों के मुताबिक जो प्रवासी या श्रमिक कर्फ्यू पास लेकर निजी वाहनों से आएंगे। उनको राज्य में एंट्री प्वाइंट पर पंजीकरण के बाद आने दिया जाएगा और नियत स्थान पर पहुंचने के बाद क्वारेंटाइन किया जाएगा। बाड़मेर से निजी वाहनों से बाहर जाने वाले प्रवासियों को भी जिला कलक्टर की ओर से चरणबद्ध रूप से पास जारी किए जाएंगे। उनके मुताबिक अन्य प्रदेशों के श्रमिकों को सोशल डिस्टेंसिंग एवं हैल्थ प्रोटोकॉल की पालना के साथ अगले कुछ दिनों में सकुशल अपने-अपने स्थानों पर पहुंचाने के लिए पुख्ता व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएगी।


होम एवं संस्थागत क्वारेंटाइन के समुचित इंतजाम: बाड़मेर जिले में बाहरी श्रमिकों एवं अन्य स्थानों से आए लोगों को कोरोना एडवाइजरी के अनुसार क्वारेंटाइन में रखने के साथ उसकी पालना करवाई जा रही है।

आवश्यक दस्तावेज अपने पास रखें : जिला कलक्टर मीणा ने प्रवासियों एवं श्रमिकों से आवश्यक पहचान पत्र,पूर्व में अगर कोरोना की जांच करवाई गई है,तो उससे संबंधित दस्तावेज अपने  साथ रखने का अनुरोध किया है। उनके मुताबिक परिवहन के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग तथा स्क्रीनिंग के समय धैर्य बनाए रखें। इसके अलावा कोरोना के लक्षण तथा किसी कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति से सम्पर्क के संबंध में जानकारी को नहीं छुपाएं।

नियमों के उल्लंघन पर होगी कार्रवाई: राज्य सरकार समस्त प्रवासियों एवं श्रमिकों को सकुशल घर पहुंचाना चाहती है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से नियमित रूप से इसकी मोनेटरिंग की जा रही है। ऐसे में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सबका सहयोग जरूरी है।
जिला कलक्टर विश्राम मीणा के अनुसार क्वारेंटाइन में रहने वाले लोगों की कोविड-19 क्वारेंटाइन अलर्ट सिस्टम तथा राज कोविड-19 इन्फो एप के माध्यम से ऑनलाइन ट्रेकिंग की व्यवस्था की गई है। यदि कोई व्यक्ति क्वारेंटाइन एरिया से बाहर आएगा तो उसके विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा कोई भी व्यक्ति नियमों का उल्लंघन करेगा तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।


अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह ने जारी किए निर्देश: बाहर से आने वाले लोगों की प्रभावी मोनेटरिंग के लिए अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह राजीव स्वरूप ने जिला क़लक्टर्स को निर्देश जारी किए है। इसके अनुसार अन्य प्रदेशों की सीमा से सटे जिलों की सीमा पर चेक पोस्ट स्थापित करने, बाहर से आए लोगों को 14 दिन तक होम क्वारें टाइन करने, ग्रामीणों एवं पटवारी, बी एल ओ के सहयोग से निजी साधनों अथवा चुपके के आए लोगों की सूचना प्राप्त करने, ग्रामीणों की ओर से किसी व्यक्ति को प्रवेश नही देने की स्थिति में संबंधित गांव के बाहर स्कूल वगैरह के भवन में क्वारेटाइन सेंटर की स्थापना करने के निर्देश दिए गए है।

बाहर से आए व्यक्तियों की सूचना देने की अपील: जिला कलक्टर विश्राम मीणा ने आमजन से बाड़मेर जिले में  बाहरी स्थान से आए व्यक्तियों की सूचना जिला एवं पुलिस प्रशासन को देने की अपील की है। ताकि क्वारेंटाइन के नियमों की पालना करवाई जा सके। उन्होंने प्रवासियों एवं अन्य प्रदेश के श्रमिकों से कोरोना से निपटने में सहयोग की अपील की है।

कोई टिप्पणी नहीं