Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

तीन नणंद समेत भाभी ने खाया जहर, तीनों नणंद की मौत, भाभी की हालत गंभीर।

तीन नणंद समेत भाभी ने खाया जहर, तीनों नणंद की मौत, भाभी की हालत गंभीर। @मुकेश पाल सिंह सिरोही/पिंडवाड़ा। समीपवर्ती झाडोली मे...

तीन नणंद समेत भाभी ने खाया जहर, तीनों नणंद की मौत, भाभी की हालत गंभीर।

@मुकेश पाल सिंह
सिरोही/पिंडवाड़ा। समीपवर्ती झाडोली में एक ही परिवार के 4 सदस्यों ने जहर खा लिया। जिसके बाद तीन की मृत्यु हो गई तथा एक की हालत गंभीर है जिसे इलाज के लिए गुजरात के पालनपुर रेफर किया गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार गर्भवती भाभी के विषाक्त पदार्थ खाने की जानकारी से डर के मारे 3 नणंद सगी बहनों ने जहरीले पदार्थ खाने के बाद कृषि फार्म पर जाने के लिए निकली बीच रास्ते में बेहोश होकर गिर गई। परिजनों को पता चलते ही लेने पहुंचे मगर जीप में दो बहनों ने बीच रास्ते में दम तोड़ा दिया तथा एक की सिरोही जिला चिकित्सालय में उपचार के दौरान मौत हो गयी। गंभीर भाभी को उपचार के बाद पालनपुर गुजरात रेफर किया गया।
पुलिस थाना क्षेत्र के निकटवर्ती गांव झाडोली के एक परिवार में चार  महिलाओं ने विषाक्त पदार्थ सेवन करने से तीन मौत हो गयी तथा एक गर्भवती महिला की स्थिति नाजुक है जिसे उपचार के लिए पालनपुर गुजरात रेफर किया गया। विषाक्त पदार्थ खाकर मरने का कारण अब तक पता नही चला है। भाभी के होश में आने के बाद ही कारणों का  खुलासा हो सकता है। वही घटना को लेकर पारिवारिक कलह बताया जा रहा है। जानकारी के अनुसार निकटवर्ती गांव झाडोली में कालूराम घांची की चार बेटियां एक पुत्र बहू और उसके दो बेटे व मां के साथ परिवार निवास करता है। वही इस परिवार मे बुधवार सुबह करीबन 8 बजे जोशना पत्नी गोपाल ने किसी घरेलू कारण की वजह से विषाक्त पदार्थ का सेवन कर लिया और अपने पति गोपाल को फोन करके बताया कि मैंने गोलियां खा ली है।जिसकी खबर मिलते ही गोपाल घर पर दौड़ कर गया और अपनी पत्नी को मोटरसाइकिल पर बिठाकर उपचार के लिए राजकीय चिकित्सालय पिंडवाड़ा लेकर आया। वहां चिकित्सक ने प्राथमिक उपचार कर स्थिति नाजुक देख सिरोही उपचार के लिए रेफर किया। इसी दौरान घर में मौजूद नणंद पुष्पा, शकुंतला व उषा तब तीनों बहने डर गई। डर कर तीनों ने भी विषाक्त पदार्थ खा लिया। खाने के बाद गांव से बाहर अपने कृषि फॉर्म पर निकल गई और बीच रास्ते नदी में अचेत होकर गिर गई। वहीं इस पूरी घटना की जानकारी कृषि फॉर्म पर मौजूद पिता कालूराम को मिली तो कुए से  घर आने के लिए निकला था कि बीच रास्ते नदी में तीनों को बेहोशी की हालत में पड़ा देखकर पहले घबरा गया और उसने गोविंद को फोन किया कि तीनों बहने बेहोश होकर पड़ी है वहां गाड़ी लेकर जल्दी पहुंचो इन्हें अस्पताल ले जाना है। खबर मिलते ही गोविंद अपने पिता रामलाल को जीप के साथ नदी में पहुंचा तीनों को जीप में डालकर सिरोही चिकित्सालय उपचार के लिए निकले जिसमें पुष्पा और शकुंतला ने बीच रास्ते में दम तोड़ दिया। वहीं उषा ने सिरोही चिकित्सालय में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। इस घटना की जानकारी पर पिंडवाड़ा पुलिस थाना अधिकारी सुमेर सिंह इंदा, डिप्टी किशोर सिंह चौहान, उपखंड अधिकारी जयपाल सिंह राठौड़, तहसीलदार कल्पेश जैन, सरपंच कैलाश सुथार मौके पहुंचे और उच्च अधिकारी को इस घटना से अवगत करवाया। 

वही पुलिस अधीक्षक कल्याण मल मीणा को जानकारी मिलते ही सिरोही राजकीय चिकित्सालय पहुंचकर जानकारी लेकर तुरंत ही घटनास्थल  झाडोली पहुंचे जहां मृतक के परिजनों से कारणों का जांच पड़ताल की। विषाक्त पदार्थ खाने के बाद तीनों बहने कुए पर गई थी। जिसके साक्ष्य बताने के लिए सभी अधिकारी 2 किलोमीटर पैदल चल कर नदी में पहुंचे और तथ्य जुटाए। प्रथम दृष्टया पुलिस अधीक्षक का कहना है कि घरेलू कारणों के चलते गोपाल की पत्नी ने विषाक्त पदार्थ का सेवन किया था। जिसके बाद घर में मौजूद तीनों बहनों ने विषाक्त पदार्थ का सेवन कर पैदल चलकर नदी तक पहुंची और बेहोश होकर गिर गई।वहीं भाभी जोशना को उपचार के लिए सिरोही से पालनपुर भेजा गया है। उसके ठीक होने के बाद ही पूरे घटनाक्रम के कारणों का खुलासा होगा। वही इस घटना की जानकारी झाडोली गांव में फेलते ही लोगों में सनसनी फैल गई। लेकिन देश में कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर लॉक डाउन घोषित किया है जिसके चलते कुछ लोगों ने बार आने के प्रयास किए तब पुलिस के हेड कांस्टेबल खीम सिंह, मांगीलाल गरासिया, जीवा राम मीणा ने घर के बाहर खड़े लोगों को वहां से हटाकर सभी को घर भेज दिया।

कोई टिप्पणी नहीं