Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

जिला कलक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने किया चैक पोस्टों का निरीक्षण।

जिला कलक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने किया चैक पोस्टों का निरीक्षण। बाड़मेर। पड़ोसी जिला जैसलमेर में कोरोना वायरस के संक्रमित रोगीयों ...

जिला कलक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने किया चैक पोस्टों का निरीक्षण।

बाड़मेर। पड़ोसी जिला जैसलमेर में कोरोना वायरस के संक्रमित रोगीयों के मद्देनजर बाड़मेर में पूर्णतः सतर्कता एवं चौकसी की पड़ताल परखने को जिला कलक्टर विश्राम मीणा ने जिला पुलिस अधीक्षक आनन्द शर्मा के साथ बुधवार प्रातः चैक पोस्टों का निरीक्षण किया एवं जिले की सीमाओं को पूरी तरह सील करने के निर्देश दिए।
जिला कलक्टर मीणा तथा पुलिस अधीक्षक आनन्द शर्मा ने बुधवार प्रातः जैसलमेर जिले से लगने वाली बाड़मेर जिले की सीमा पर स्थित चैक पोस्टों का निरीक्षण किया। जिला कलक्टर ने केसुम्बला, बरियाड़ा, आरंग, राजबेरा, रातड़ी स्थित चैक पोस्टों का निरीक्षण किया। उन्होने यहां पर तैनात पुलिस एवं राजस्व विभाग के कार्मिकों से यहां से आवागमन करने वाले वाहनों की संख्या की जानकारी ली। साथ ही पिछले दो-तीन दिन से आवागमन करने वाले वाहनों की संख्या एवं उनके प्रकार के बारे में पूछताछ की। जिला कलक्टर ने यहां तैनात कार्मिकों को सख्त निर्देश दिए कि किसी भी परिस्थिति में आवश्यक सेवाओं वाले वाहनों तथा अति आवश्यक कार्यो को छोड़कर अन्य किसी भी आवाजाही पर पूर्णतः प्रतिबन्ध लगा दिया जाए। 
जिला कलक्टर ने सभी चैक पोस्टों को 24 घण्टे अनवरत सघन चैकिंग करने एवं किसी को भी आवागमन नहीं करने के निर्देश दिए। उन्होने चेतावनी दी कि जिले में जांच के दौरान किसी भी वाहन की जानकारी मिलने पर संबंधित चैकपोस्ट कार्मिकों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जाएगी। इस मौके पर पुलिस अधीक्षक आनन्द शर्मा ने चैक पोस्ट पर तैनात पुलिस कार्मिकों को वाहनों की सख्ती से जांच करने एवं सीमा पूरी तरह सील करने के निर्देश दिए।
कच्चे मार्गो की भी चौकसी- 
जिला कलक्टर ने राष्ट्रीय तथा राज्य राजमार्गो एवं पक्की सड़कों पर चैक पोस्टों द्वारा सीमाएं सील करने के साथ-साथ जिले में प्रवेश करने वाले कच्चें मार्गो एवं पगडंडियों से भी आवागमन पूर्णतः प्रतिबन्धित करने के निर्देश दिए। उन्होने उपखण्ड अधिकारियों एवं पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए कि अन्य जिलों से बाड़मेर जिले में प्रवेश करने वाले पगडंडियों, कच्चे मार्गो, ग्रेवल सड़कों समेत सभी प्रकार के वैकल्पिक मार्गो पर खाई खोद कर अथवा कांटों की बाड़ कर उन्हें अवरोध कर दिया जाए। ताकि इन वैकल्पिक मार्गो से वाहनों का प्रवेश नहीं हो पाए।

कोई टिप्पणी नहीं