Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

बाड़मेर, जिला कलेक्टर ने की पूर्व तेयारियो की समीक्षा।

बाड़मेर, जिला कलेक्टर ने की पूर्व तेयारियो की समीक्षा। - टिड्डी नियंत्रण की पूर्व तैयारियों के लिए मुस्तैदी से सर्वेक्षण कार्य क...

बाड़मेर, जिला कलेक्टर ने की पूर्व तेयारियो की समीक्षा।

- टिड्डी नियंत्रण की पूर्व तैयारियों के लिए मुस्तैदी से सर्वेक्षण कार्य की हिदायत
बाड़मेर। जिले में आगामी समय में टिड्डी प्रवेश की संभावना को देखते हुए टिड्डी के प्रभावी नियंत्रण के लिए पूर्व में तैयार रहने की नितांत आवश्यकता है। हाल ही में हुए टिड्डी हमले में आमजन को साथ लेते हुए प्रशासन ने सराहनीय कार्य किया था। इस दौरान के अनुभवों का उपयोग करते हुए मुश्तैदी से सर्वेक्षण कार्य प्रारम्भ करें। जिला कलक्टर विश्राम मीणा ने टिड्डी नियंत्रण की पूर्व तैयारियों के लिए मंगलवार को आयोजित बैठक के दौरान यह बात कहीं।
जिला कलक्टर मीणा ने कहा कि आगामी मौसम में टिड्डी दल के हमले की संभावना को ध्यान में रखते हुए जनप्रतिनिधियों एवं कृषकों से समन्वय स्थापित कर प्रभावी रोकथाम के उपाय सुनिश्चित कर लेवे। उन्होने कहा कि पूर्व में हुए हमले के दौरान अर्जित अनुभवों का लाभ उठाते हुए कार्ययोजना बनाकर सर्वेक्षण शुरू किया जावे। उन्होने कृषि विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को प्रभावी प्रशिक्षण देने के निर्देश दिए। 
इससे पूर्व अतिरिक्त जिला कलक्टर राकेश कुमार शर्मा ने विगत वर्ष 2019-20 में जिला प्रशासन, कृषि विभाग, टिड्डी नियंत्रण विभाग एवं आमजन के समन्वय से टिड्डी हमले के प्रभावी नियंत्रण के बारे में जानकारी कराई। उन्होने पूर्व अनुभवों का उपयोग करते हुए समय रहते कार्य प्रारम्भ करने की बात कही। उन्होने बताया कि टिड्डी नियंत्रण विभाग में एक नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है, जिसके दूरभाष नम्बर 02982-220045 है।
इस दौरान कृषि विस्तार उप निदेशक जे.आर.भाखर ने कृषि विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को टिड्डी हमले के सर्वेक्षण एवं नियंत्रण के लिए दिए गए प्रशिक्षण के बारे में बताया। टिड्डी नियंत्रण विभाग के पौध संरक्षण अधिकारी के.वी.चौधरी ने बताया कि 22 अप्रैल से जिल में प्रभावी सर्वे शुरू किया जा रहा है। उन्होने बताया कि इस बार टिड्डी नियंत्रण के लिए पौध संरक्षण रसायन एवं पौध संरक्षण यंत्र पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है।

कोई टिप्पणी नहीं