Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

एमएनडीवाई के तहत नियमित दवाइयां किसी भी अस्पताल से प्राप्त की जा सकेगी।

एमएनडीवाई के तहत नियमित दवाइयां किसी भी अस्पताल से प्राप्त की जा सकेगी। क्रोनिक डिजिजेज के मरीजों को किसी भी अस्पताल में मिलेगी दवा...

एमएनडीवाई के तहत नियमित दवाइयां किसी भी अस्पताल से प्राप्त की जा सकेगी।

क्रोनिक डिजिजेज के मरीजों को किसी भी अस्पताल में मिलेगी दवाइयां।
बाड़मेर। लॉक डाउन के दौरान क्रोनिक डिजिजेज के मरीजों को जिले के किसी भी अस्पताल से उपलब्ध हो सकेगी। इस संबंध में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह ने आदेश जारी किए है।
जिला कलक्टर विश्राम मीणा ने बताया कि वरिष्ठ नागरिकों एवं नियमित चलने वाली दवाइयों के मरीजों के लिए यह व्यवस्था की गई है। इसके तहत क्रोनिक डिजीजेज के रोगियों को 1 फरवरी 2020 या उसके बाद के राजकीय चिकित्सकीय परामर्श के आधार नियमित दवाइयां मुख्यमंत्री निःशुल्क दवा योजना के अन्तर्गत प्रदेश के किसी भी अस्पताल, सीएचसी, पीएचसी से उपलब्ध कराने के निर्देश दिए है। यह आदेश प्रदेश में लॉक डाउन समाप्त होने पर स्वतः ही निष्प्रभावी माने जाएंगे। उन्होंने बताया कि समस्त कैमिस्टों को निर्देशित किया गया है कि वे 1 फरवरी, 2020 के बाद से मरीज के चिकित्सकीय परामर्श के आधार पर जो दवाएं, उन्हें नियमित रूप से दिया जाना आवश्यक हो, उपलब्ध कराएं तथा चिकित्सकीय परामर्श पर ‘‘दवा उपलब्ध करवा दी गई‘‘ लिखते हुए अपनी मोहर भी लगाया जाना सुनिश्चित करें। उल्लेखनीय है कि वरिष्ठ नागरिक, क्रोनिक डिजीजेज के रोगी जिनकी नियमित दवाएं चलती है, वे कोरोना के मध्यनजर राजकीय चिकित्सक से परामर्श प्राप्त नहीं कर पा रहे है अथवा अस्पताल नहीं जा पा रहे है। ऐसे मरीजों के लिए कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए यह व्यवस्था की गई है।

कोई टिप्पणी नहीं