Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

कानोड़ के बाबूसिंह लगातार तीन वर्षो से लगे हैं गौसेवा में।

कानोड़ के बाबूसिंह लगातार तीन वर्षो से लगे हैं गौसेवा में। बाड़मेर जिले के बायतु उपखण्ड क्षेत्र का एक गांव जिसको आप सभज भली भांति...

कानोड़ के बाबूसिंह लगातार तीन वर्षो से लगे हैं गौसेवा में।

बाड़मेर जिले के बायतु उपखण्ड क्षेत्र का एक गांव जिसको आप सभज भली भांति जानते हैं। जी हाँ हम बात कर रहे हैं कानोड़ गांव की यह कस्बा प्रसिद्ध गौ भक्त पीरपुरी महाराज की तपोभूमि रहा हैं। यहाँ बनी पीरपुरी महाराज की समाधि पर आज भी क्षेत्र में गाय के कोई दिक्कत होने पर पूज ( प्रसाद चढ़ाने ) ग्रामीण आते हैं। ऐसे ही संत महात्मा की तपोभूमि ग्राम पंचायत कानोड़ में एक गौ भक्त हैं बाबू सिंह राजपुरोहित जो पिछले तीन सालों से लगातार गांव के सहयोग से असहाय एवं भूखे गौ वंश की सेवा में लगे हैं। बताया जाता हैं कि यहाँ हर महीने की ग्यारस, अमावस्या एवं पूर्णिमा को हरा चारा डाला जाता है। बाकी दिनों में रोज सूखे चारे की व्यवस्था की हुई हैं। पंचायत समिति गिड़ा के कनिष्ठ तकनीकी सहायक करनाराम गोदारा ने बताया कि बाबू सिंह  राजपुरोहित जैसा गौ भक्त इस क्षेत्र में खोजने पर भी नहीं मिलेगा।

कोई टिप्पणी नहीं