Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

लॉक डाउन में आमजन को परेशानी न हो इसलिए गांव तक आएगा चिकित्सालय।

लॉक डाउन में आमजन को परेशानी न हो इसलिए गांव तक आएगा चिकित्सालय। - जिले में भ्रमणशील चिकित्सा इकाइयों के जरिए मिलेगी चिकित्सकीय...

लॉक डाउन में आमजन को परेशानी न हो इसलिए गांव तक आएगा चिकित्सालय।

- जिले में भ्रमणशील चिकित्सा इकाइयों के जरिए मिलेगी चिकित्सकीय सेवाएं।
बाड़मेर। बाड़मेर जिले में लॉक डाउन के दौरान भ्रमणशील चिकित्सा इकाइयों के जरिए चिकित्सकीय सेवाएं मिलेगी। इसके लिए आठ भ्रमणशील चिकित्सा इकाइयां गठित की गई है।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर कमलेश चौधरी ने बताया कि लॉक डाउन के दौरान आमजन को किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े, इसके लिए राज्य सरकार के निर्देशानुसार कोरोना के अतिरिक्त बीमारियों से ग्रसित मरीजों को स्थानीय स्तर पर चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध कराई जाएगी। उनके मुताबिक ऐसे रोगी जिनको चिकित्सा संस्थानों पर पहुंचने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है, उनको उपचार प्रदान करने के लिए जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से आठ भ्रमणशील चिकित्सा इकाइयां गठित की गई है। जो ग्रामीण इलाकों में पहुंचकर चिकित्सा सुविधा प्रदान करेगी। इन भ्रमण सील इकाइयों में चिकित्सक, लैब टेक्नीशियन, फार्मासिस्ट आदि भी रहेंगे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर कमलेश चौधरी ने बताया कि यह भ्रमणशील चिकित्सा इकाइयां प्रतिदिन बाड़मेर जिले के 16 गांवों में चिकित्सा सेवा प्रदान करेगी। उन्होंने खंड मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे 3 मई तक का रूट चार्ट बनाकर जिला स्तर पर भिजवाना सुनिश्चित करें। ताकि प्रतिदिन खंड स्तर से सुबह 8 से दोपहर 2 बजे तक भ्रमणशील इकाई के जरिए चिकित्सा सुविधा मुहैया कराई जा सके। चौधरी ने बताया कि 23 अप्रैल को खंड बायतु के अकदडा, खोतो की ढाणी, खंड बाड़मेर के तीरसिंगढ़ी एवं लूणु कला के साथ बालोतरा के कलावा, बोरावास एवं चौहटन के ग्राम कोनरा और आलमसर, खंड धोरीमना के मुकने का तला, ग्राम खत्रियों की बेरी खंड सिणधरी के ग्राम एड सिणधरी, कमठाई एवं सिवाना एवं शिव खंड के ग्राम बालू, फूलन, बाड़ासर एवं उतरवा में भ्रमणशील इकाई के जरिए चिकित्सा सेवा प्रदान की जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं