Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

पानी की कमी ओर बढ़ते तापमान से राष्ट्रीय पक्षी मोरों का जीवन संकट में।

पानी की कमी ओर बढ़ते तापमान से राष्ट्रीय पक्षी मोरों का जीवन संकट में। - अज्ञात बीमारी का शिकार हो रहे है राष्ट्रीय पक्षी मोर। ...

पानी की कमी ओर बढ़ते तापमान से राष्ट्रीय पक्षी मोरों का जीवन संकट में।

- अज्ञात बीमारी का शिकार हो रहे है राष्ट्रीय पक्षी मोर।
बाड़मेर। जिले के धोरीमन्ना उपखंड क्षेत्र मे राष्ट्रीय पक्षी मोर आये दिन किसी अज्ञात बीमारी का शिकार हो रहे हैं। गर्मी के साथ बढ़ते तापमान मे समूचे बाड़मेर जिले में कई जगह पिछले एक सप्ताह में 6 से 7 मोर अज्ञात बीमारी के शिकार हो चुके हैं।धोरीमन्ना के वन्यजीव बाहुल्य क्षेत्र मीठङा खुर्द व लोलो की बेरी गांव में राष्ट्रीय पक्षियों की मौत का मामला सामने आया हैं। इसी तरह समूचे जिले मे कई मोर घायल भी हुए हैं। जानकारी के मुताबिक मोरों की मौत की वजह फिलहाल अज्ञात है।शुक्रवार सुबह लोलो की बेरी गांव राष्ट्रीय पक्षी घायल होने की सूचना मिलने पर जम्भेश्वर पर्यावरण एवम् जीवरक्षा प्रदेश संस्था मीडिया प्रभारी भंवरलाल विश्नोई व वन विभाग की टीम के साथ तुरंत मौके पर पहुंचे।लेकिन तब तक मोर ने दम तोड़ दिया। और मृत मोर को धोरीमन्ना स्थित रेस्क्यू सेंटर ले जाया गया। जहां पशु चिकित्सालय में मेडिकल बोर्ड से उनका पोस्टमार्टम करवाया जायेगा। 

मौसम में बदलाव हो सकता हैं कारण
मौसम में हो रहा बदलाव इनकी मृत्यु की वजह माना जा रहा है। मेडिकल बोर्ड की रिपोर्ट आने के बाद भी मौत के कारणों का खुलासा हो सकेगा।आपको बता दें कि जिलेभर में मोरों की मौत का यह कोई पहला मामला नहीं है। गत वर्ष भी इसी क्षेत्र में रहस्यमयी तरीके से मोरों के मुंह में झाग आता था और वह तड़प तड़प कर दम तोड़ रहे थे। अब एक बार फिर ठीक उसी तरह से मोरों ने दम तोड़ दिया हैं। ओर घटनाओ में लगातार इजाफा हो रहा हैं।

वही जम्भेश्वर पर्यावरण एंव जीवरक्षा प्रदेश संस्था के मीडिया प्रभारी भंवरलाल विश्नोई का इनका कहना हैं की, उपखंड क्षेत्र मे राष्ट्रीय पक्षी मोर में कोई अज्ञात बीमारी की वजह से दम तोड़ देते है। विचरण करते अचानक बेहोश होकर गिर जाते हैं, ओर गर्दन एकदम सिकुड़ जाती हैं, ओर आधे घंटे तक मुंह से झाग निकलते है फिर दम तोड़ देते है।शुक्रवार को ऐसी घटना के शिकार हुए मृत मोर को मेडिकल के लिए धोरीमन्ना रेस्क्यू सेंटर भिजवाया गया हैं मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद ही पता लग पायेगा।

कोई टिप्पणी नहीं