Page Nav

SHOW

Breaking News:

latest

बाड़मेर के कोरोना कर्मवीर कालुराम माली से आज रूबरू करवाते हैं।

बाड़मेर के कर्मवीर कालुराम माली नर्स-प्रथम से आज रूबरू करवाते हैं। बाड़मेर। वैश्विक महामारी के बाद देशभर के कर्मवीरों की कार्यशैल...

बाड़मेर के कर्मवीर कालुराम माली नर्स-प्रथम से आज रूबरू करवाते हैं।

बाड़मेर। वैश्विक महामारी के बाद देशभर के कर्मवीरों की कार्यशैली के बारे में विभिन समाचारों पत्र पत्रिकाओं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया वेब मीडिया पर जानकारिया सुनने देखने और पढ़ने को मिल रही हैं। वाकही में यह दौर जो मुश्किलों से गुजर रहा हैं इसमें जो कार्मिक अपनी जान पर खेलकर मानवता के लिए अपनी जी जान लगाएं हुए हैं उनका हौसला अफजाई करने से उनके मनोबल को बढ़ाने का सच्चा प्रयास हैं। हमारी यही कोशिश रहती हैं कि ऐसे योद्धाओं की जानकारी आप सभी पाठकों तक पहुंचाए। आज हम आपको वक ऐसे ही कर्मवीर के जीवन से रूबरू करवाते हैं जिनका नाम हैं कालूराम माली मेलनर्स ग्रेड फर्स्ट जो फिलहाल राजकीय जिला अस्पताल बाड़मेर में कोरोना आइसोलेशन वार्ड में अपनी जान जोखिम में डालकर अपनी ड्यूटी दे रहे हैं।

आइए जानते हैं माली के जीवन के बारे में:
जवाहर चौक बाड़मेर के रहने वाले किसान कानाराम माली ओर  गृहणी कस्तूरी देवी के घर 30 जून 1964 को कालूराम ने जन्म लिया।
कालूराम ने पढ़ाई करते हुए 1987 को राजकीय महाविद्यालय बाड़मेर से स्नातक पूरी की ओर 1987 से जनवरी 1990 तक नर्सिंग प्रशिक्षण पूरा किया। ट्रेनिंग के बाद कालूराम को नर्स ग्रेड द्वितीय पद पर प्रथम नियुक्ति मिली 14 जून 1990 से 27 जून 1990 राजकीय चिकित्सालय बाड़मेर में रहे। उसके बाद 28 जून 1990 से 17 अक्टूबर 1990 से 17 अक्टूबर 1996 तक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र चवा बाड़मेर में कार्यरत रहे।
इस दौरान पीएससी चवा में नर्स ग्रेड-दितिय पद पर रहते हुए जिला कलेक्टर बाड़मेर द्वारा 26 जनवरी 1992 में जिला स्तर पर परिवार कल्याण कार्यकर्म के तहत सहरानीय कार्य करने के उपलक्ष में जिला स्तर पर सम्मानित किया गया।
उसके बाद कालूराम माली ने 18 अक्टूबर 1996 से 31 जुलाई 1997 तक परिवार कल्याण बाड़मेर में DPHN (डिस्ट्रिक पब्लिक हेल्थ नर्स) पद पर कार्य किया।
उसके बाद 1 अगस्त 1997 से 16 अप्रैल 2015 तक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शिव, बाड़मेर में रहते हुए अपना कार्य किया। 15 अगस्त 2005 में इमरजेंसी मेडिकल सर्विसेज में माली को प्रशंसनीय सेवाओं के उपलक्ष में उपखंड स्तर पर आयोजित स्वतंत्र दिवस समारोह के अवसर पर सम्मानित किया गया।
26 जनवरी 2015 रोगियों की सेवा में सदैव तत्परता से कार्य करने में की गई प्रशंसनीय सेवाओं के उपलक्ष में 66वें गणतंत्र दिवस समारोह में उपखंड स्तर पर सम्मानित किया गया।
17 अप्रैल 2015 को नर्स ग्रेड प्रथम पद पर प्रमोशन होने पर एक दिन के लिए  मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बाड़मेर कार्य ग्रहण किया।
अगले दिन यानी कि 18 अप्रैल 2015 से 23 मार्च 2019 तक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शिव में रहते हुए अपना कार्य किया।माली को 26 जनवरी 2016 को राष्ट्रीय कार्यक्रमों में की गई प्रशंसनीय सेवाओं के उपलक्ष में 67वें गणतंत्र  दिवस समारोह में उपखंड स्तर पर सम्मानित किया गया।
15 अगस्त 2017 को सामुदायिक सवास्थ्य केंद्र शिव में रहते हुए निष्ठापूर्वक कार्य सम्पादन में की गई प्रशंसनीय सेवाओं के उपलक्ष में 71 वे स्वतंत्रता दिवस समारोह में उपखंड स्तर पर सम्मानित किया गया।
वर्तमान में 24 अप्रैल 2019 से आज तक राजकीय चिकित्सालय बाड़मेर में नर्स ग्रेड प्रथम पर रहते हुए मानसिक रोग वार्ड में नर्सिंग सेवाएं दी व पोस्ट ऑपरेटिव एवम् बर्न वार्ड में नर्सिंग सेवाएं देने के साथ ही रोस्टर प्रणाली से आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कोराना वायरस के संदिग्ध मरीजों को भी नर्सिंग सेवाएं दे रहे हैं।
माली ने बताया कि इस समय साथी डॉक्टर दिनेश परमार, राजेश कुमार व गोविंद स्वीपर आइसोलेशन वार्ड में संदिग्ध कॉरोना वायरस मरीज की रिपोर्ट कारोना पॉजिटिव आने पर वार्ड स्टाफ को होटल डेजर्ट इन बाड़मेर में क्वेयरंटाइन के बाद होटल से फ्री कर होम क्वारेंटाइन के लिए होटल से विदा होकर घर जाते हैं। उन्होंने बताया कि नर्सिंग स्टाफ में प्रभुराम चौधरी, मदन सिह कोलू, जय पंवार, अवतार सिंह व अन्य साथियों का साथ हमेशा बना रहता हैं।

कोई टिप्पणी नहीं